आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट : मायावती का सरकार पर निशाना, कहा- भावनाएं भड़काकर राजनीतिक रोटी सेंकना भाजपा की खूबी

0
69

खनऊ. बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए गुरुवार को कहा कि आज पेश आर्थिक सर्वेक्षण भी प्रमाणित करता है कि गरीबी, बेरोजगारी, किसान आत्महत्या आदि की गंभीर समस्याओं के मामले में यह सरकार उदासीन व लापरवाह रही है। मायावती ने यह भी कहा है कि लोगों को हसीन सपने दिखाना परन्तु उस हिसाब से काम नहीं करना व भावनाएं भड़काकर राजनीतिक रोटी सेंकना भाजपा की विशेषता रही है।

बसपा सुप्रीमो ने ट्वीट के जरिए मोदी सरकार पर हमला बोला है। एक दूसरे ट्वीट में मायावती ने कहा, ”  विकास दर की बडे़-बड़े दावों से देश के 130 करोड़ गरीबों, मजदूरों, किसानों, बेरोजगारों आदि का अबतक सही भला नहीं हो पाया है बल्कि इनकी दिन-प्रतिदिन की समस्याएं अनवरत गंभीर होती जा रही हैं जो अति-दुःखद व दुर्भाग्यपूर्ण है। केवल कागजी दावों से जनता का हित व कल्याण कैसे संभव है?”

संसद में आज पेश हुई आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट
आज संसद में देश की इकॉनमी की हेल्थ रिपोर्ट यानी आर्थिक सर्वे पेश कर दिया गया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को इसे सदन के पटल पर रखा। दरअसल, बजट से ठीक पहले संसद में वित्त मंत्री आर्थिक सर्वे के जरिए देश की आर्थिक दशा की तस्वीर पेश करते हैं। इसमें पिछले 12 महीने के दौरान देश में विकास का ट्रेंड क्या रहा, योजनाओं को किस तरह अमल में लाया गया? इस बारे में विस्तार से बताया जाता है। आर्थिक सर्वे संसद के दोनों सदनों में पेश होता है। इस सर्वे से जहां पिछले साल के आर्थिक प्रगति का लेखा-जोखा मिलता है वहीं नए वित्तीय साल में आर्थिक विकास की राह क्या होगी, इस बारे में अंदाजा लग जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here