खनन घोटाला: CBI ने गायत्री प्रजापति के घर समेत 22 जगहों पर की छापेमारी

0
19

  • CN24NEWS HINDI-12/06/2019
  • खनन घोटाले की जांच कर रही सीबीआई बुधवार को अमेठी में गायत्री प्रजापति के आवास पर पहुंची. परिजनों से पूछताछ की जा रही है.

    र्व खनन मंत्री रहे गायत्री प्रजापति के ठिकानों पर सीबीआई ने छापेमारी की है. खनन घोटाले की जांच कर रही सीबीआई आज यानी बुधवार को अमेठी में गायत्री प्रजापति के आवास समेत 22 ठिकानों पर छापेमारी की. गायत्री के परिजनों से पूछताछ की जा रही है. फिलहाल गायत्री प्रजापति रेप के आरोप में जेल में बंद हैं.

    गायत्री प्रजापति अखिलेश यादव की सपा सरकार में खनन मंत्री रहे हैं. उन पर अवैध खनन के कई बार आरोप लग चुके हैं. वे एक महिला से साथ गैंगरेप के भी आरोपी हैं. इस मामले में वे इलाहाबाद हाईकोर्ट में जमानत के लिए गए थे, लेकिन कोर्ट उनकी याचिका खारिज कर चुका है.

    क्या है पूरा मामला

    यह खनन घोटाला समाजवादी पार्टी की सरकार में वर्ष 2012 से 2016 के बीच हुआ था. इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर सीबीआई इस घोटाले की जांच कर रही है. हाईकोर्ट ने दो अलग-अलग जनहित याचिकाओं पर 28 जुलाई 2016 को अवैध खनन की जांच के आदेश दिए थे. जांच में सीबीआई को साल 2012-16 के दौरान हमीरपुर जिले में व्यापक पैमाने पर अवैध खनन किए जाने के साक्ष्य मिले, जिससे बड़े पैमाने पर सरकारी राजस्व को क्षति पहुंची.

    इन लोगों के खिलाफ दर्ज है मामला

    यूपी में अवैध खनन के मामले में सीबीआई 11 लोगों के खिलाफ एक मामला दर्ज कर चुकी है. सीबीआई ने हमीरपुर जिले की पूर्व कलेक्टर और आईएएस अधिकारी बी. चंद्रकला, खनिक आदिल खान, भूवैज्ञानिक/खनन अधिकारी मोइनुद्दीन, समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता रमेश कुमार मिश्रा, उनके भाई दिनेश कुमार मिश्रा, राम आश्रय प्रजापति, हमीरपुर के खनन विभाग के पूर्व क्लर्क संजय दीक्षित, उनके पिता सत्यदेव दीक्षित और रामअवतार सिंह के नाम प्राथमिकी में शामिल हैं. संजय दीक्षित ने 2017 विधानसभा चुनाव बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के टिकट पर लड़ा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here