Saturday, September 18, 2021
Homeदेशझारखंड : संसद तक गूंजा सरायकेला मॉब लिंचिंग मामला, विपक्ष बोला-लिंचिंग फैक्ट्री...

झारखंड : संसद तक गूंजा सरायकेला मॉब लिंचिंग मामला, विपक्ष बोला-लिंचिंग फैक्ट्री बन गया है झारखंड

रांची/सरायकेला.  सरायकेला के धातकीडीह में 17 जून की रात को हुई मॉब लिंचिंग मामले ने पूरे देश में राजनीतिक गहमागहमी शुरू कर दी है। मामले में राज्य पुलिस ने तो दो थाना प्रभारियों को सस्पेंड कर जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी है, अब तक 11 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। 100 अज्ञात लोगों पर केस दर्ज किया गया है। सरायकेला डीसी ने भी मामले में अनुमंडल पदाधिकारी की अध्यक्षता में तीन सदस्यी कमेटी गठित की है। मगर विपक्षी दलों ने इस केस के जरिये केंद्र व राज्य की भाजपा सरकारों को निशाना बनाया है।

हर हफ्ते किसी दलित-मुस्लिम की हत्या हो रही: गुलामी नबी आजाद
सोमवार को संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान वरिष्ठ कांग्रेसी नेता गुलामी नबी आजाद ने इस घटना का जिक्र करते हुए कहा कि यदि यही नरेंद्र मोदी का नया भारत है तो वे इसे रखें और हमें हमारा पुराना भारत लौटा दें। झारखंड मॉब लिंचिंग की फैक्ट्री बन गया है। यहां हर हफ्ते किसी दलित-मुस्लिम की हत्या हो रही है। पीडीपी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती और एआईएमआईएम के प्रमुख असद्दुदीन ओवैसी ने भी इस मामले में भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार पर सवाल उठाए हैं। कांग्रेसी नेता पीएल पूनिया ने आरोप लगाए कि घटना के आरोपियों का संबंध भाजपा व आरएसएस से है। भाजपा नेताओं ने कहा है कि विपक्ष मामले को राजनीतिक रंग दे रहा है।

डीसी की प्राथमिक रिपोर्ट- चोरी करने आया था तबरेज, परिजनों ने लिंचिंग के आरोप लगाए
डीजीपी कमलनयन चौबे ने सोमवार को पत्रकारों के सवालों के जवाब में इस घटना को मॉब लिंचिंग का नाम दिए जाने पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि यहां मॉब लिंचिंग जैसी कोई घटना नहीं थी। तबरेज अंसारी ने एक गांव में चोरी की थी और उसके बाद सीमावर्ती दूसरे गांव में चोरी करने के दौरान पकड़ा गया था। ग्रामीणों ने उसकी पिटाई कर दी थी। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों का ये कदम गलत था और इस मामले में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया जा चुका है। उधर, सरायकेला डीसी ने भी गृह विभाग को भेजी प्राथमिक रिपोर्ट में कहा है कि तबरेज अंसारी 17 जून की रात को धातकीडीह के एक घर में चोरी के इरादे से घुसा था। उसके साथी भाग गए, जबकि भीड़ ने उसे पकड़ लिया। तबरेज के परिजनों ने भीड़ पर जय श्रीराम बुलवाने और पीटने के आरोप लगाए थे, जिस पर प्राथमिकी दर्ज कर एक को गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में उन्होंने अनुमंडल पदाधिकारी की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया है।

वीडियो के जरिये आरोपियों को पहचान रही पुलिस
सोमवार को कोल्हान के डीआईजी कुलदीप द्विवेदी ने सरायकेला डीएसपी (मुख्यालय) चंदन कुमार के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया। खरसावां थाना प्रभारी चंद्र मोहन उरांव और सीनी ओपी प्रभारी बिपिन बिहारी सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है। पुलिस ने 10 अन्य युवकों को भी गिरफ्तार किया है। रविवार को नामजद आरोपी पप्पू मंडल उर्फ प्रकाश मंडल की गिरफ्तारी हुई थी। पुलिस धातकीडीह गांव में कैंप किए हुए है और घटना के वीडियो से लोगों की पहचान कर रही है। घटना में मारे गए तबरेज अंसारी के संबंध में भी छानबीन की जा रही है।

आजाद, महबूबा-ओवैसी ने कहा-क्या यही मोदी का नया भारत है
बोले आजाद : संसद में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि यदि यही नया भारत है तो हमें हमारा पुराना भारत लौटा दें। झारखंड लिंचिंग की फैक्ट्री बन गया है। हर हफ्ते दलित-मुस्लिम मारे जा रहे हैं।

ओवैसी बोले : एआईएमआईएम के प्रमुख असद्दुदीन ओवैसी ने कहा कि भाजपा-संघ ने मुस्लिम समुदाय के खिलाफ माहौल खराब किया है। इसी की वजह से लिंचिंग की घटनाएं बढ़ी हैं।

महबूबा बोलीं : पीडीपी प्रमुख ने ट्वीट किया कि झारखंड में एक मुस्लिम युवक की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी, क्योंकि जय श्रीराम का नारा नहीं लगाया। क्या यही एनडीए का नया भारत है।

सीपी सिंह ने कहा : राज्य के नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि ऐसे मामलों को भाजपा और संघ से जोड़ने का चलन बन गया है। विपक्ष को राजनीति नहीं करनी चाहिए। पुलिस केस की जांच कर रही है। उसे अपना काम करने दीजिए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments