पंजाब / आधी रात के बाद बिट्‌टू का पाेस्टमार्टम परिवार का संस्कार से इनकार, फ्लैग मार्च

0
23

बेअदबी मामले के आरोपी व डेरा प्रेमी मोहिंदर पाल बिट्‌टू की नाभा जेल के अंदर हत्या के बाद कोटकपूरा समेत कई इलाकों में तनाव है। इसी को देखते हुए आधी रात के बाद तड़के 2:50 बजे बिट्‌टू का पोस्टमार्टम कराया गया। सुबह 4 बजे बेटे भारी सुरक्षा के साथ बिट्‌टू के शव उसके शहर कोटकपूरा भेज दिया गया। मसला उस समय गंभीर हो गया जब सुबह 7 बजे कोटकपूरा पहुंचने पर बिट्‌टू के परिजनों ने नाम चर्चा घर में आयोजित शाेक सभा के दौरान डेरा संगत की मांगों के समाधान तक बिट्‌टू का संस्कार न करने का एलान कर दिया।

उधर, नाभा पुलिस ने हत्या के आरोपी हवालाती मनिंदर सिंह और कैदी गुरसेवक सिंह के खिलाफ धारा 302 हत्या के अलावा अन्य धाराओं के तहत देर रात केस दर्ज किया। कत्ल के दाेनाें अाराेपियाें का पटियाला में मेडिकल करवाने के बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया, जहां से 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। कोटकपूरा, फरीदकोट समेत मालवा के कई जिलों में तनाव का माहौल है। इसे देखते हुए नामचर्चा घरों, गुरुद्वारों और अन्य धार्मिक स्थलों मंें पैरामिलिट्री की कई कंपनियां तैनात कर दी गई हैं। कई इलाकोंे मेंं फ्लैग मार्च भी किया गया। पंजाब सरकार ने लोगों से शांति की अपील भी की है।
दोनों हत्यारोपी चार दिन के रिमांड पर भेजे गए…बठिंडा रेंज के आईजी एफएम फारूकी ने बताया कि सलाबतपुरा डेरा में सुरक्षा को लेकर पैरामिलिट्री तैनात है। कोटकपूरा में 3 कंपनियां व मोगा में भी दो कंपनियां लगाईं गई। डीएसपी नाभा वरिंदरजीत सिंह थिंद ने बताया, नामघरों व गुरुद्वारों की सुरक्षा के लिए आईआरबी की एक बटालियन लगाई गई है। दूसरे दिन जेल मंत्री सुखजिंदर िसंह रंधावा ने जेल का जायजा लिया।

मामले की जांच होनी चाहिए : प्रदेश में सरकार नाम की काेई चीज नहीं। जेल में डेरा प्रेमी की हत्या की घटना हाे सकता है बेअदबी के राेष के कारण घटी हाे लेकिन मामले की जांच हाेनी चाहिए। घटना से प्रशासन पर कई तरह के स्वाल खड़े करती है।   -सुखबीर बादल, शिअद प्रधान

नाम चर्चा घर में रखा शव, संस्कार का फैसला सिरसा की डेरा कमेटी पर छोड़ा, दिनभर मनाती रही पुलिस : बिट्‌टू के परिजनों ने शव को नामचर्चा घर में रख दिया। दिन निकलते ही आला पुलिस अधिकारी परिवार को संस्कार के लिए मनाने पहुंचे लेकिन परिजनों व डेरा के गणमान्यों ने सारा मामला सिरसा से आने वाला सात सदस्यीय कमेटी पर छोड़ दिया। शाम करीब तीन बजे सिरसा से अाई डेरा की उच्च स्तरीय सात सदस्य कमेटी ने महिंदर पाल बिट्‌टू के परिवार की सहमति से उनकी मांगों के समाधान न होने तक शव का संस्कार करने से इनकार कर दिया।

जान काे खतरे की आशंका पहले ही जताई थी बिट्टू ने : कोटकपूरा में मृतक बिटटू के बेटे रमिंदर कुमार ने कहा कि उसके पिता की हत्या साजिशन की गई है। उन्होंने जेल अधिकारियों को जान का खतरा होने की आशंका पहले जता दी थी। नाभा जेल में शिफ्ट करने से पहले जिस जेल में उन्हें रखा गया था वहां उनकी मुलाक़ात बाकी कैदियों से अलग जगह और समय पर कड़ी सुरक्षा में करवाई जाती थी, लेकिन नाभा जेल में उसकी पिता से मुलाक़ात के दौरान सुरक्षा के प्रबंध नहीं थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here