Saturday, September 25, 2021
Homeखेलफुटबॉल : महिला वर्ल्ड कप में 552 खिलाड़ी ले रहीं हिस्सा, इनमें...

फुटबॉल : महिला वर्ल्ड कप में 552 खिलाड़ी ले रहीं हिस्सा, इनमें से 7 गोल्डन बूट की दावेदार

खेल डेस्क. फीफा वुमन्स वर्ल्ड कप फ्रांस में 7 जून से शुरू हो गया। यह 7 जुलाई तक चलेगा। इसमें 24 देश की 552 महिला खिलाड़ी हिस्सा ले रही हैं। यह टूर्नामेंट का 8वां सीजन है। पहली बार 1991 में चीन ने इसकी मेजबानी की थी। तब अमेरिका चैम्पियन बना था। फीफा वुमन्स वर्ल्ड कप का सबसे ज्यादा 3 बार खिताब अमेरिका ने जीता है। इसके बाद जर्मनी ने दो बार खिताब अपने नाम किया है। जापान और नॉर्वे की टीम एक-एक बार चैम्पियन बन चुकी हैं।

फ्रांस के नौ मैदानों पर महिला खिलाड़ी अपने पैरों का जादू दिखाएंगी। इनमें नौ स्टार फुटबॉलर्स इस बार गोल्डन बूट की दावेदार हैं। ब्राजील की मार्टा के नाम अब तक सबसे ज्यादा 15 गोल हैं। जर्मनी की बिरगिट प्रिंच के नाम 14 गोल हैं। आइए जानते हैं कि वे सात फुटबॉलर्स कौन हैं, जो इस बार सबसे ज्यादा गोल करने की दौड़ में शामिल हैं।

  • मार्टा (ब्राजील ) : मार्टा वर्ल्ड कप में सर्वाधिक गोल करने वाली खिलाड़ी हैं। उन्होंने अब तक कुल 15 गोल दागे हैं। साल 2002 से ब्राजील के लिए इंटरनेशनल मुकाबले खेल रहीं 33 साल की मार्टा ने 133 मैच में कुल 110 गोल किए हैं। उन्हें 6 बार फीफा बेस्ट वुमन प्लेयर ऑफ द ईयर का अवॉर्ड मिल चुका है।
  • क्रिस्टिन सिंक्लेयर (कनाडा) : वर्ल्ड कप इतिहास में सर्वाधिक गोल करने के मामले में नौवें नंबर पर काबिज सिंक्लेयर इस बार गोल्डन बूट की दावेदार हैं। साल 2000 से अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल खेल रहीं सिंक्लेयर ने कनाडा के लिए 281 मैच में 181 गोल किए हैं। 35 साल की सिंक्लेयर ने टूर्नामेंट के इतिहास में अब तक नौ किए हैं।
  • स्टीना ब्लैकस्टैनुइस (स्वीडन) : 23 साल करी स्टीना बड़े टूर्नामेंट में गोल करने के लिए जानी जाती हैं। उन्होंने 2016 रियो ओलिंपिक और यूरो कप 2017 में 2-2 गोल किए थे। स्वीडन की बेहतरीन फॉरवर्ड खिलाड़ी लोटा शेलिन के संन्यास लेने के बाद स्टीन पर टीम के लिए गोल करने की जिम्मेदारी हैं। उन्होंने 43 अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में 10 गोल किए हैं।
  • माना इवाबुची (जापान) : माना इवाबुची ने जापान के लिए पिछले साल 18 मैच में नौ गोल किए थे। यह उनका नौ साल के करियर में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन था। 26 साल की माना 2011 और 2015 में वर्ल्ड कप खेल चुकीं हैं। जापान के लिए 61 मैच में उन्होंने 20 गोल किए। दो वर्ल्ड कप में उनके नाम सिर्फ एक गोल है। हालांकि, उनकी मौजूदा फॉर्म को देखते हुए वे इस बार गोल्डन बूट जीतने की दावेदार हैं।
  • निकिता पेरिस (इंग्लैंड) : पिछले सीजन में मैनचेस्टर सिटी की महिला टीम के लिए 19 गोल करने वाली निकिता पेरिस को 2018-19 के लिए वुमन फुटबॉलर ऑफ द ईयर का अवॉर्ड मिला। वे पहली बार वर्ल्ड कप में हिस्सा लेंगी। 25 साल की निकिता ने वर्ल्ड कप क्वालिफाइंग टूर्नामेंट में छह गोल किए थे। उन्होंने इंग्लैंड के लिए 33 मैच में कुल 12 गोल किए हैं।
  • लिया शूलर (जर्मनी) : 21 साल की शूलर ने जर्मनी के लिए 2017 में पहली बार इंटरनेशनल मैच खेला। इसके बाद उन्होंने 14 मुकाबलों में 8 गोल किए। इनमें से सात गोल तो सिर्फ पिछले साल किए। लिया ने वर्ल्ड कप से पहले फ्रांस के खिलाफ फ्रेंडली मैच में गोल कर टीम को जीत दिलाई थी।
  • सैम कर (ऑस्ट्रेलिया ) : पिछले 22 महीनों में 31 अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में 23 गोल करने वाली सैम कर इस बार गोल्डन बूट जीतने की बड़ी दावेदार हैं। वे 2011 और 2015 वर्ल्ड कप में भी ऑस्ट्रेलियाई टीम का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। 25 साल की सैम कर के नाम 78 मैच में कुल 32 गोल हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments