राजस्थान : सुप्रीम काेर्ट के आदेशाें का पालन फिर नहीं हाेगा, इस बार भी सरकार खुद की मर्जी से चुनेगी डीजीपी

0
14

जयपुर. डीजीपी पद के लिए अफसराें ने लॉबिंग शुरू कर दी है। लेकिन डीजीपी बनाने काे लेकर इस बार भी सुप्रीम काेर्ट के आदेशाें की पालना नहीं हाेगी। सरकार इस बार भी खुद की मर्जी से डीजीपी पद के लिए दावेदाराें में एक अफसर का चयन करेगी। सरकार की तरफ से इस बार भी डीजीपी पद के लिए डीजी रेंक के अधिकारियाें का पेनल केन्द्र सरकार काे नहीं भेजा है। छह दिन बाद यानी 30 जून काे डीजीपी कपिल गर्ग रिटायर्ड हाे जाएंगे। खास बात यह है कि दाे दिन का अवकाश हाेने के कारण कपिल गर्ग का अंतिम कार्य दिवस 28 जून हाेगा।

दरअसल वर्ष 2016 में सुप्रीम काेर्ट ने सभी राज्याें की सरकार काे आदेश दिए थे कि डीजीपी पद पर किसी अफसर काे लगाने के लिए केन्द्र सरकार काे छह डीजी रेंक के अधिकारियाें का पेनल भेजा जाएगा। इनमें से तीन अधिकारियाें के कामकाज का आकलन करने के बाद राज्य सरकार काे तीन अफसराें का नाम केन्द्र सरकार द्वारा भेजा जाना था। उनमें से ही किसी एक अफसर काे डीजीपी बनाया जाना था।

आदेशाें के तहत उसी अफसर काे डीजीपी पद पर लगाया जाना था, जिसका कार्यकाल दाे साल का हाे। लेकिन कुछ माह पहले आदेशाें में संशाेधन किया गया और छह माह के कार्यकाल वाले अफसराें काे भी डीजीपी पद पर लगाने के लिए उनकाे भी शामिल करने के आदेश दिए थे। लेकिन अभी तक सरकार ने केन्द्र सरकार काे डीजीपी पद पर लगाने के लिए अफसराें का पेनल नहीं भेजा है।

दावेदार: यादव और त्रिपाठी सबसे मजबूत

कपिल गर्ग के रिटायर्ड हाेने के बाद पुलिस में डीजी रेंक के अधिकारी एनआरके रेड्डी, ओपी गल्हाेत्रा, भूपेन्द्र सिंह यादव, आलाेक त्रिपाठी, एमएल लाठर और राजीव दासाेत रह जाएंगे। सबसे मजबूत दावेदार भूपेन्द्र सिंह यादव और आलाेक त्रिपाठी है। भूपेन्द्र सिंह यादव जाेधपुर रेंज में लंबे समय तक रहे हैं और सरकार के काफी नजदीक हैंं। उनकी कई अफसर लाॅबिंग कर रहे हैं।

त्रिपाठी ने एटीएस में रहते हुए आतंक के आराेपियाें काे पकड़कर स्लीपर सेल का खुलासा किया और एसीबी में रहते हुए भ्रष्टाचारियाें पर शिकंजा कसने का प्रयास किया। ऐसे में वें कामकाज के हिसाब से दावेदार माने जा रहे हैं। खास बात यह है कि यादव काे संवैधानिक पद पर भी नियुक्ति मिलने की चर्चा है। ऐसे में फिर त्रिपाठी इस पद के दावेदार रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here