Tuesday, September 28, 2021
Homeहरियाणाहरियाणा : 30 घंटे से कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई का घर खंगाल...

हरियाणा : 30 घंटे से कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई का घर खंगाल रही इनकम टैक्स की टीम

हिसार. कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई के आवास और प्रतिष्ठानों पर आयकर विभाग की टीम पिछले 30 घंटे से जांच कर रही है। बुधवार दोपहर टीम के कुछ सदस्यों और बिश्नोई समर्थकों के बीच विवाद हो गया। पुलिस ने बीच-बचाव कर मामला शांत करवाया। बुधवार दोपहर 2 बजे तक 30 घंटे बीत जाने के बाद भी टीम जांच जारी है। आयकर विभाग की रेड दिल्ली में भी चल रही है। कुलदीप हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भजनलाल के बेटे हैं और आदमपुर से विधायक हैं।

बुधवार दोपहर करीब 12 बजे आयकर विभाग के कुछ कर्मचारी लैपटॉप और बैग लेकर कुलदीप बिश्नोई के घर पर पहुंचे। बिश्नोई समर्थक बैग और लैपटॉप की जांच करवाने की बात कहकर अड़ गए। उनका कहना था कि टीम इनकी जांच करवाकर अंदर जाए। क्या पता वे खुद कोई चीज अंदर ले जाएं और फिर उसे ही बरामदगी में दिखा दें। इसी बात को लेकर टीम और बिश्नोई समर्थकों के बीच विवाद हो गया। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने बीच-बचाव कर टीम को अंदर प्रवेश कराया।

मंगलवार को यहां हुई थी कार्रवाई
आयकर विभाग की टीम कुलदीप के ठिकानों पर कार्रवाई के लिए हिसार, आदमपुर, गुड़गांव स्थित आवासों पर मंगलवार सुबह 8 बजे पहुंच गई थी। हिसार के सेक्टर-15 स्थित आवास, सिरसा रोड पर शोरूम, गुड़गांव के आवास, आदमपुर स्थित पैतृक आवास, दुकान व अन्य स्थान निशाने पर रहे।

डायमंड के कारोबार को लेकर निशाने पर

आदमपुर में कुलदीप के बेटे भव्य बिश्नोई को आयकर विभाग की टीम ने कल सुबह से ही घर में रखा। देर शाम स्थानीय लोगों ने चिंता की तो भव्य को बाहर भेजा। सूत्रों की मानें तो विधायक के दिल्ली में डायमंड के बड़े कारोबार को लेकर आयकर विभाग नजर रखे हुए था। इसलिए ऑपरेशन की पूरी रूपरेखा दिल्ली में बनी। आयकर विभाग के 50 अधिकारियों की अलग-अलग टीमें बनाकर कार्रवाई को अंजाम दिया। टीमें मंगलवार सुबह 4 बजे ही हरियाणा के लिए रवाना हो गईं थीं।

मामले से जुड़े सभी दस्तावेज साथ ले जाएंगे अफसर, असेसमेंट होगा 
सूत्रों की मानें तो आयकर विभाग की इस कार्रवाई को सर्वे नहीं कहा जा सकता है। यह छापेमारी की कार्रवाई के बाद सर्च ऑपरेशन है। आयकर विभाग की भाषा में सर्च ऑपरेशन सबसे देरी तक चलने वाली कार्यवाही होती है, जिसमें उस व्यक्ति के सभी प्रकार के कामकाज, प्रतिष्ठान, आवास यहां तक कि निकटतम लोगों को भी सर्च में शामिल किया जाता है। आयकर विभाग के अधिकारी इस मामले में मिले दस्तावेज, डायरी, रिकॉर्ड आदि को जब्त कर अपने साथ लेकर दिल्ली जाएंगे। जहां इन्वेस्टिगेशन विंग इन सभी रिकॉर्ड पर असेसमेंट का काम शुरू करेगी। कारोबार से जुड़े लोगों के बयान आदि लिए जाएंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments