Thursday, September 23, 2021
Homeलाइफ स्टाइलहोम केयर /राइस कुकर से लेकर कॉफी मेकर तक, जानिए कब और...

होम केयर /राइस कुकर से लेकर कॉफी मेकर तक, जानिए कब और कैसे करें ऐसे घरेलू उपकरणों की सफाई

  • CN24NEWS-19/06/2019

लाइफस्टाइल डेस्क. साफ-सुथरा घर किसे पसंद नहीं होता है पर क्या आप जानते हैं घर की हर चीज को साफ करने का अपना एक तरीका होता है? घर की हर चीज़ को एक ही तरीके से साफ नहीं किया जा सकता है और हर चीज़ को साफ़ करने का एक समय होता है। घर में कई तरह की चीजें होती हैं जो अलग-अलग धातुओं और मटीरियल से बनी होती हैं ऐसे में यह ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है की किस चीज़ को किस तरीके से और कब साफ़ किया जायेगा। लाइफस्टाइल एक्सपर्ट मानसी पुजारा से जानिए कब और कैसे करें ऐसे घरेलू उपकरणों की सफाई…

नियमित रूप से करें चीज़ों की सफाई

  1. ऐसे में घर की सफाई करने के दौरान इन बातों का विशेष ध्यान रखें:
    • राइस कुकर – इस्तेमाल के बाद तुरंत धोना चाहिए। कुछ मॉडल्स में रिमूवेबल इनर लिड होती है, जो चावल पकाने के दौरान स्टार्च खींचती है।
    • कटिंग बोर्ड- जितनी बार इस्तेमाल करें उतनी बार धोना चाहिए। डिश वॉशर नहीं है तो पानी की तेज धार के नीचे इसे साबुन और स्क्रब से साफ करना चाहिए। बोर्ड लकड़ी का है तो 25 प्रतिशत विनेगर और 75 प्रतिशत पानी के घोल से साफ किया जा सकता है।
    • ह्युमिडिफायर- हर तीसरे दिन साफ कर सकते हैं। कूल मिस्ट ह्युमिडिफायर है तो पानी की स्टोरेज स्पेस को हर तीसरे दिन साफ करना चाहिए। पानी की जगह विनेगर भी लिया जा सकता है। साबुन की जरूरत नहीं है। बत्ती को साफ करने के लिए उसे ठंडे पानी में 20 मिनट के लिए गला कर रखें। इस्तेमाल करने से पहले सूखने दें। हर छ महीने बाद बत्ती बदल सकते हैं।
    • माइक्रोवेव- हफ्ते में एक बार साफ करना चाहिए। इसमें मौजूद खाने के छोटे टुकड़े ओवरहीटिंग और अन्य नुकसान करते हैं। कटोरे में पानी भरकर हाइ पर माइक्रोवेव करें। स्टीम से आसपास चिपका खाना निकल जाता है। इसके बाद सूखे पेपर टॉवेल से पोंछ सकते हैं। सोफा- हर दो हफ्ते बाद सोफे की सफाई होनी चाहिए। इसी समय कुशन भी बदलने चाहिए। साल में एक बार सोफे की डीप क्लीनिंग करवाना भी जरूरी है। इसके लिए अपहोल्स्ट्री क्लीनर को हायर किया जा सकता है।
    • कॉफी मेकर – महीने में एक बार साफ करना चाहिए। अगर नियमित तौर पर कॉफी मेकर की सफाई नहीं होती है तो अपनी हर कॉफी के साथ आप बहुत से बैक्टीरिया भी पी रहे हैं। रिजरवॉयर और कॉफी फिल्टर बास्केट को साफ करने के लिए विनेगर और पानी लेना होगा
    • मैट्रेस और पिलो- साल में दो से तीन बार साफ करें। वैसे यह इनकी उपयोगिता पर भी निर्भर करता है। अगर धूल ज्यादा है तो तकिए और गद्दे के कवर साल में दो से तीन बार तेज गर्म पानी में धोने चाहिए। बाकी समय कवर को वैक्युम कर सकते हैं। अगर कवर धो रहे हैं तो पहले उसपर लिखे निर्देश पढ़ना चाहिए।
    • एयर प्यूरिफायर- एयर प्यूरिफायर का फिल्टर कब बदलना है यह उसके मॉडल पर निर्भर करता है। फाइबर ग्लास फिल्टर को हर दो से चार हफ्ते में वैक्यूम कर सकते हैं या पानी से साफ कर सकते हैं। रिप्लेस करने से पहले इसे पूरी तरह सूखने देना चाहिए। हर छ महीने में फिल्टर रिप्लेस किया जा सकता है।
    • वैक्यूम- महीने में एक बार साफ करें। वैक्यूम में अगर वॉशेबल फिल्टर है तो गुनगुने पानी से धोकर कम से कम 14 घंटे तक सुखाने के बाद ही लगाना चाहिए।
    • वॉशिंग मशीन- महीने में एक बार साफ किया जा सकता है। लिड और दरवाजा खुला रखने से नमी निकलती है। फ्रंट लोड है तो रबर डोर सील के पीछे सफाई करना जरूरी है। नियमित सफाई से बैक्टिरिया नहीं पनपेंगे।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments