Sunday, September 19, 2021
Homeहिमाचलमोबाइल टावर लगाने के नाम पर खाते में डलवाए 11 लाख 45...

मोबाइल टावर लगाने के नाम पर खाते में डलवाए 11 लाख 45 हजार रुपए

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में एक सरकारी कर्मचारी लाखों रुपए की ठगी का शिकार हो गया है। मोबाइल टावर लगाने के नाम पर DC ऑफिस शिमला के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी से 11 लाख 45 हजार रुपए ठगे गए हैं। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 420 और 120बी के तहत मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस में दी हुई शिकायत में पीड़ित का कहना है कि उसे एक निजी कंपनी की तरफ से कॉल आई। खुद को कंपनी का अधिकारी बताकर शख्स ने उसे पेशकश की कि अपनी जमीन पर कंपनी का मोबाइल टावर लगवाओ, कंपनी 25 लाख रुपए सालाना देगी। वह लालच में आया गया और प्रोसेस पूछ लिया।

शख्स ने टावर लगाने की औपचारिकताएं पूरी करने के लिए दस्तावेज मांगे। जब उसने पूरे दस्तावेज भेज दिए तो दोबारा से एक फोन आता है कि दस्तावेज सभी ठीक हैं। अब टावर लगाने के लिए रजिस्ट्रेशन फीस खाते में जमा करवानी होगी। इसके बाद आरोपियों ने टैक्स, जीएसटी, बीमा वह अन्य औपचारिकताओं को पूरा करने के लिए पैसे जमा करवाने को कहा।

आरोपी ने उससे 11 लाख 45 हजार 300 रुपए खाते में जमा करवाने को कहा। वह उन लोगों की बातों में आ गया और उनके खाते में उसने पैसे डलवा दिए। इसके बाद वह उन्हें लगातार फोन करता रहा, लेकिन फोन स्विच ऑफ आ रहा है। ऐसे में उसे आभास हुआ कि वह कहीं ठगी का शिकार तो नहीं हो गया है। फिर उसने शिमला सदर थाना में शिकायत दर्ज करवाई।

शिक्षा विभाग ने अभिभावकों को भी किया अलर्ट

हिमाचल प्रदेश में स्कूल बंद होने के चलते स्कूली बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं। ऐसे में अभिभावकों को ठगी का शिकार बनाया जा सकता है। इसको लेकर शिक्षा विभाग की ओर से सभी अभिभावकों के लिए अलर्ट जारी किया गया है कि वह ऑनलाइन पढ़ाई करते समय बच्चों का ध्यान रखें। किसी भी तरह की फ्रॉड कॉल या मैसेज आने पर खुद ही देंखे। अन्यथा ठगी करने वाले लोग बच्चों के जरिए खाते से पैसे निकाल सकते हैं।

लॉकडाउन के बाद साइबर क्राइम के मामले बढ़े

हिमाचल प्रदेश में लॉकडाउन लगने के बाद साइबर क्राइम के मामले बढ़े हैं। पहले जहां महीने में 50 से 100 मामले ही सामने आते थे, वहीं अब मामलों की संख्या बढ़कर 200 से 300 हो गई है। पुलिस विभाग की ओर से लगातार लोगों को जागरूक किया जा रहा है कि वह ऐसी अनचाही फोन कॉल और मैसेज से बचें, क्योंकि यह ठगी से संबंधित हो सकते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments