Tuesday, September 28, 2021
Homeहरियाणाहरियाणा के 30 लाख शुगर मरीजों पर मंडरा रहा खतरा; 50 से...

हरियाणा के 30 लाख शुगर मरीजों पर मंडरा रहा खतरा; 50 से ज्यादा केस मिल चुके हैं, बचाव ही एकमात्र उपाय

कोरोना संक्रमण के बाद अब लोगों को आंखों की बीमारी ब्लैक फंगस का सामना करना पड़ रहा है। इसका सबसे ज्यादा असर कोरोना संक्रमित शुगर के मरीजों पर हो रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, हरियाणा में 10.4 प्रतिशत लोग शुगर के मरीज हैं यानी 2.86 करोड़ की आबादी में 30 लाख 30 हजार लोगों पर ब्लैक फंगस का खतरा मंडरा रहा है।

ब्लैक फंगस का सबसे ज्यादा असर कोरोना संक्रमित शुगर के मरीजों पर हो रहा है।
  • रोहतक पीजीआई में 27, अग्रोहा में 6 और गुरुग्राम में 10 मरीजों का चल रहा इलाज

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च व अन्य हेल्थ विशेषज्ञ यह कह चुके हैं, जो शुगर के मरीज हैं, उन पर ब्लैक फंगस का खतरा सबसे अधिक है। क्योंकि शुगर के मरीजों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर रहती है। प्रदेश में अभी 50 से ज्यादा केस सामने आए हैं। इनमें 27 मरीज रोहतक पीजीआई में पहुंचे हैं। 6 हिसार के अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में भर्ती हैं। गुरुग्राम में भी एक निजी अस्पताल में 10 मरीज भर्ती हो चुके हैं।

वजह

स्टेरॉयड, ब्लड शुगर, कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता के अलावा ऑक्सीजन पाइप से इंफेक्शन फैल सकता है। ऑक्सीजन के लगातार इस्तेमाल से वेट इन्वायरमेंट बनता है, जो ब्लैक फंगस को फैलने में मदद करता है।

यह करें

फंगस ऑक्सीजन पाइप में न रह जाए, इसके लिए बार-बार पाइप को क्लीन करना जरूरी है। खासकर आईसीयू एरिया में प्रयोग होने वाले ऑक्सीजन संबंधित लाइंस व उपकरणों के पार्ट्स को साफ रखना जरूरी है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments