Sunday, September 19, 2021
Homeराजस्थान5056 करोड़ रु. खर्च कर 4163 गांवों में होंगे 7.70 लाख पेयजल...

5056 करोड़ रु. खर्च कर 4163 गांवों में होंगे 7.70 लाख पेयजल कनेक्शन

प्रदेश में जल जीवन मिशन से 5056 करोड़ खर्च कर 4163 गांवों में 7.70 लाख पेयजल कनेक्शन होंगे। जलदाय मंत्री बीडी कल्ला की अध्यक्षता वाली पॉलिसी प्लानिंग कमेटी में इसको मंजूरी मिली है। बैठक मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई। हर घर नल कनेक्शन योजना के इन प्रोजेक्ट व स्कीम में अब टेंडर व वर्कऑर्डर होंगे।

इसके बाद अगले एक साल यानि आगामी गर्मियों से पहले अधिकांश पेयजल कनेक्शन होने का टारगेट रखा जाएगा। विभाग की पॉलिसी प्लानिंग कमेटी (पीपीसी) में मेजर प्रोजेक्ट में 4718 करोड़ की 21 स्कीम को मंजूरी दी। इनसे 2 हजार 815 गांवों में 7 लाख 10 हजार 169 नल कनेक्शन दिए जाएंगे। इसके अलावा 41 सिंगल व मल्टी विलेज ग्रामीण पेयजल योजनाओं के प्रस्ताव मंजूर किए गए। इनमें 1348 गांवों में 60 हजार 226 नल कनेक्शन होंगे।

इस पर 338 करोड़ रुपए खर्च होंगे। मीटिंग में विभाग के एसीएस सुधांश पंत ने सभी प्रोजेक्ट व स्कीम का काम समय पर पूरा करने की हिदायत दी। उन्होंने मॉनिटरिंग के लिए ‘प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग सॉफ्टवेयर’ बनाने के लिए कहा है ताकि चीफ इंजीनियर हर स्कीम व प्रोजेक्ट की प्रोग्रेस पर नजर रख सके। मंत्री बीडी कल्ला ने जेजेएम में तकनीकी स्वीकृतियां, टेंडर और कार्यादेश जारी करने के लिए टाइम शेड्यूल बनाकर काम करने के निर्देश दिए हैं।

इन योजनाओं का भी अनुमोदन

हरमाड़ा-बढ़ारणा को बीसलपुर प्रोजेक्ट से जोड़ने के लिए 43.48 करोड़ की स्कीम का अनुमोदन हुआ।

बाड़ी (धौलपुर) में पेयजल सप्लाई के लिए 38.85 करोड़ के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।

जेजेएम स्कीम से वर्ष 2021-2022 में वाटर क्वालिटी मॉनिटरिंग एवं सर्विलेंस प्लान में 67.81 करोड़ की राशि मंजूर की।

सवाईमाधोपुर में मोरल नदी पर एनीकट निर्माण पर 16.26 करोड़ तथा बीसलपुर प्रोजेक्ट में सूरजपुरा से सांभर तक 539 गांवों में पेयजल आपूर्ति के लिए ट्रांसमिशन मेन पाइपलाइन के लिए 265.96 करोड़ रुपए के व्यय प्रस्ताव का अनुमोदन हुआ।

पंत की फील्ड विजिट में नहीं आए एसई, कारण बताओ नोटिस थमाए

प्रदेश में पेयजल स्कीम व प्रोजेक्ट की मॉनिटरिंग में सुस्ती व अनुशासनहीनता पर जलदाय विभाग के अधिकारियों पर कार्रवाई की जाने लगी है। विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुधांश पंत की जल जीवन मिशन के कार्यों को लेकर हुए फील्ड विजिट में अनुपस्थित रहे अधीक्षण अभियंता आरसी मीना को एक ही दिन में दो कारण बताओ नोटिस थमाए।

एसीएस के निर्देश के बाद विभाग के एडिशनल चीफ इंजीनियर मनीष बेनीवाल ने नोटिस देकर कारण पूछा है। पहला नोटिस निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित रहने और जल जीवन मिशन की बैठकों में गैर हाजिर रहने पर दिया है। नोटिस में पेयजल विहीन स्कूल व आंगनबाड़ी केंद्रों की सूची भिजवाने के आदेशों की अवहेलना भी बताया है। दूसरा नोटिस मिशन की मीटिंग में नहीं आने पर दिया है। इस महीने हुई दो मीटिंग में आरसी मीना मीटिंग मौजूद नहींं थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments