Friday, September 17, 2021
Homeपंजाबहादसा : बिजली के खंभे में टकराई तेज रफ्तार कार, रिश्तेदार की...

हादसा : बिजली के खंभे में टकराई तेज रफ्तार कार, रिश्तेदार की शादी से लौट रहे टेबल टेनिस खिलाड़ी की मौत

जालंधर. जालंधर में सड़क हादसे में टेबल टेनिस के नेशनल लेवल के खिलाड़ी संभव चोपड़ा की मौत हो गई। हादसा उस वक्त हुआ, जब वह एक रिश्तेदार की शादी से घर लौट रहा था। अचानक कार की टक्कर बिजली के ट्रांसफार्मर के साथ हो गई। इस टक्कर के बाद ट्रांसफार्मर नीचे आन गिरा, वहीं कार का एक पहिया एक्सेल के साथ बाकी हिस्से से अलग हो गया। घटना में संभव ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। सूचना के बाद पुलिस ने 174 के तहत कार्रवाई करते पोस्टमॉर्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया है।

हादसे की भयावहता को बयां करती एक तस्वीर, जिसमें कार का एक पहिया एक्सेल समेत टूटकर अलग हो गया।

मिली जानकारी के अनुसार, 22 वर्षीय संभव चोपड़ा एल्डिगो ग्रीन, लांबड़ा में रहते सिकंदर आटो कॉर्पोरेशन के मालिक गौरव चोपड़ा का बेटा था। वह एपीजे कालेज में बी-कॉम पार्ट वन का छात्र था और राष्ट्रीय स्तर का टेबल टेनिस खिलाड़ी था। थाना छह के एएसआई जगदीश ने बताया कि मृतक संभव के चाचा सौरभ चोपड़ा के बयानों पर धारा 174 के तहत कार्रवाई कर शव परिजनों को सौंप दिया गया है। सौरभ ने बयान दिए कि संभव अपने परिवार सहित हवेली हैरीटेज पैलेस में अपने रिश्तेदार की शादी के समारोह में गया था। रात साढ़े तीन बजे वो घर वापस जा रहा था कि गाड़ी बेकाबू हो गई और बिजली के खंभे से जा टकराई। उन्होंने इसमें किसी का कसूर न होने की बात कह कर किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई करवाने से इनकार किया है।

बिजली के ट्रांसफार्मर से टकराने के बाद क्षतिग्रस्त कार, जिसमें संभव शादी समारोह से घर लौट रहा था।

खुला एयर बैलून भी जान न बचा पाया
हादसा कितना भयंकर था इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि दुर्घटना के बाद कार का एक्सेल टूटकर अलग हो गया। गाड़ी का एयर बैलून भी खुल गया, लेकिन वो भी संभव की जान न बचा सका। गाड़ी का एक पहिया तो एक्सेल से टूटकर अलग हो गया था और आधी से ज्यादा छत ही उड़ गई थी। वहीं बिजली का ट्रांसफार्मर भी टेढ़ा हो गया था और हाईवोल्टेज तारें जमीन पर आ गिरी। उधर, संभव की मौत की सूचना जब हंसराज स्टेडियम के कोचों व अन्य खिलाड़ियों को मिली तो वो हैरान रह गए। संभव चोपड़ा अंडर-15 से अंडर-21 तक टेबल टेनिस की राज्य व राष्ट्रीय स्तर की टेबल टेनिस प्रतियोगिता में टॉप थ्री में रहा था। छोटे खिलाड़यों को भी अपने साथ खिलाता और सिखाता था। स्टेडियम के खिलाड़ियों को क्या पता था संभव द्वारा दो दिन किए अभ्यास के आखिरी दिन थे। मनीष भारद्वाज ने बताया कि बीते शुक्रवार व शनिवार को स्टेडियम में अभ्यास करके गया था। खेल के वह पढ़ाई में काफी अच्छा था। अंतिम टूर्नामेंट फिरोजपुर में हुई स्टेट टेबल टेनिस चैंपियनशिप था। इसमें संभव ने स्वर्ण पदक हासिल किया था। जून 2020 में पंजाब रैकिंग टेबल टेनिस टूर्नामेंट शुरू होना था। बी-कॉम की परीक्षा खत्म होने के बाद टूर्नामेंट की तैयारी में जुटना था। संभव ने कोच को कहा था कि इस बार स्वर्ण पदक अपने नाम करना है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments