Tuesday, September 21, 2021
Homeबिहारबिहार : डॉगी की मौत के बाद हिन्दू रीति से की अंत्येष्टि,...

बिहार : डॉगी की मौत के बाद हिन्दू रीति से की अंत्येष्टि, न्यूजीलैंड से पटना आकर गंगा में बहाईं अस्थियां

पूर्णिया : बापू ने कहा था कि सभ्य समाज की पहचान इस बात से होती है कि लोग वहां पशुओं के साथ कैसा बर्ताव करते हैं। पूर्णिया के मधुबनी मोहल्ला निवासी प्रमोद चाैहान ने इस अवधारणा को ऊंचा उठाया है। प्रमोद के पशुप्रेम की यह कहानी चर्चा का विषय बनी हुई है।

ऑकलैंड में व्यवसाय हैं प्रमोद
प्रमोद ज्यादातर समय न्यूजीलैंड में बिताते हैं। वे ऑकलैंड में लकड़ी के लॉग को चीन एक्सपोर्ट करते हैं। पिछले 18 साल से फूड प्रोडक्ट का व्यवसाय भी कर रहे हैं। उन्होंने न्यूजीलैंड में 10 साल से एक कुत्ता पाल रखा था, जिसका नाम लाइकन था। लाइकन उनके परिवार का ऐसा सदस्य रहा, जिसकी गुजरने की कमी ने प्रमोद और उनके परिवार को किसी परिजन के गुजर जाने सा गम दिया।

अस्थियां गंगा में प्रवाहित की

प्रमोद बताते हैं कि लाइकन मेरे परिवार का अभिन्न सदस्य था। इसलिए उसके गुजरने के बाद वहां हिन्दू रीति से उसका दाह संस्कार किया और उसकी अस्थियां भारत लाकर पटना में गंगा में प्रवाहित की। फिर गया जाकर पिंडदान और श्राद्ध किया। प्रमोद अब श्राद्ध के 30 दिन बीतने का इंतजार कर रहे हैं। तीस दिन पूरा होते ही वह भंडारा भी करेंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments