पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार यह ग्रेनेड हमला सुबह किया गया। सुरक्षाबलों का एक दल जब सिंहपोरा गांव के मुख्य बाजार में खड़ा हुआ था, उसी समय अचानक से यह विस्फोट हुआ। हमलावरों का पता नहीं चल पाया। अलबत्ता इस विस्फोट की चपेट में आने से चार लोग घायल हो गए। सभी घायलों को तुरंत पटटन ट्रामा अस्पताल भर्ती कराया गया। जहां उनका इलाज चल रहा है। वहीं ग्रेनेड फैंकने वाले आतंकियों की तलाश के लिए सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी शुरू कर दी है। एसओजी, सेना व सीआरपीएफ के जवान मौके पर पहुंच गए हैं। अन्य विवरण प्रतीक्षारत है।

वहीं जिला पुलवामा के टिकन गांव में आज तड़के आंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच शुरू हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादियों के मारे जाने की सूचना है। अभी भी इलाके में एक आतंकी के मौजूद होने की आशंका जताई जा रही है। सुरक्षाबलों ने अपना अभियान जारी रखा हुआ है। मुठभेड़ के दौरान क्रास फायरिंग की चपेट में आकर एक नागरिक भी जख्मी हुआ है। उसे उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया है। सुरक्षाबलों ने एहतियात के तौर पर जिला पुलवामा में इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार वि’श्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर एसओजी, सेना की 55 आरआर और सीआरपीएफ जवानों का संयुक्त दल जिला पुलवामा के टिकन इलाके में पहुंचा। उन्होंने इस बात का पता चला था कि इलाके में दो से तीन आतंकी देखे गए हैं। क्षेत्र में पहुंच जैसे ही सुरक्षाबलों ने घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन चलाया आतंकियों ने सुरक्षाबलों को अपने नजदीक आते देख उस उन पर गोलियां बरसाना शुरू कर दी।

अचानक से की गई गोलीबारी के कारण इलाके में अफरा-तफरी मच गई। क्रास फायरिंग की चपेट में आने से एक स्थानीय नागरिक भी घायल हो गया। जवानों ने तुरंत घायल नागरिक को अस्पताल पहुंचाया। इस बीच सुरक्षाबलों ने आतंकियों को आत्मसमर्पण करने का मौका भी दिया परंतु आतंकवादियों ने गोलीबारी का सिलसिला जारी रखा। मुठभेड़ में अभी तक दो आतंकियों को मार गिराया गया है। मारे गए आतंकवादियों की पहचान नहीं हो पाई है परंतु बताया जा रहा है कि ये दोनों अल-बदर मुजाहिदीन आतंकी संगठन से संबंध रखते थे।

वहीं तीसरे आतंकवादी पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा है। सुरक्षाबलों का अभियान अभी भी जारी है। जिला पुलवामा आतंकवादियों का गढ़ माना जाता है। राष्ट्रविरोधी तत्व सैन्य कार्रवाई में बाधा न बनें इसके लिए जिला प्रशासन ने एहतियात के तौर पर इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया है। अभियान जारी है।