Friday, September 17, 2021
Homeझारखण्डबरकाकाना हत्याकांड : गुस्साए लोगों ने लगाया जाम, ट्रेनें रोकीं; आरोपी आरपीएफ...

बरकाकाना हत्याकांड : गुस्साए लोगों ने लगाया जाम, ट्रेनें रोकीं; आरोपी आरपीएफ जवान की गिरफ्तारी पर अड़े

रामगढ़. बरकाकाना के गांधीनगर रेलवे कॉलोनी में ट्रिपल मर्डर की घटना को लेकर रविवार को लोग आक्रोशित हो उठे। आरोपी आरपीएफ जवान पवन कुमार सिंह की गिरफ्तारी की मांग को लेकर लोगों ने पतरातू-रामगढ़ मुख्य मार्ग को जाम कर दिया। इससे बरकाकाना स्टेशन पहुंचने वाले लोगों को खासा परेशान होना पड़ा। वहीं, लोगों ने रेलवे ट्रैक भी जाम कर दिया। लोगों ने सड़क पर टायर जला अपने गुस्से का इजहार किया। पुलिस लोगों को समझाने के प्रयास में जुटी हुई है।

शनिवार की रात आरपीएफ जवान पवन कुमार सिंह ने रेलकर्मी अशाेक राम के घर में घुसकर कार्बाइन से ताबड़ताेड़ फायरिंग कर दी थी। गोली लगने से रेलकर्मी अशोक राम (56), उनकी पत्नी लीलावती देवी (52) और गर्भवती बेटी मीना देवी (30) की मौत हो गई। बेटी सुमन देवी, और बेटे संजय राम काे गंभीर हालत में रिम्स रांची भेजा गया है। घर में मौजूद बेटी प्रियंका कुमारी और बेटा बिट्टु मौका पाकर दूसरे कमरे में जाकर छिप गए थे।

रेलकर्मी का परिवार गाय पालकर दूध बेचने का काम भी करता था। आरोपी जवान इनसे दूध लेता था, लेकिन पैसे नहीं देने के कारण 25 दिन पहले उसे दूध देना बंद कर दिया था। बताया जाता है कि इसी गुस्से में उसने यह कदम उठाया। रेलवे कॉलोनी में जवान पवन कुमार सिंह और रेलकर्मी अशोक राम का क्वार्टर आसपास है। इधर, आक्राेशित परिजन और लाेगाें ने रात में भी रांची राेड पर मुख्य सड़क जाम कर दिया था। ये लोग आरोपी की तत्काल गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हैं। अशोक राम भुरकुंडा स्टेशन पर पोर्टर का काम करते थे। पत्नी लीला देवी रामगढ़ डीसी कार्यालय में आउट सोर्स पर फोर्थ ग्रेड कर्मचारी थी।

अंधाधुंध गोलियां बरसाने लगा

रेलकर्मी अशोक राम की बेटी प्रियंका ने बताया- शनिवार रात करीब 8 बजे आरपीएफ जवान पवन सिंह घर में घुसा। उसने कोई बातचीत नहीं की। सीधे गोलियां चलाने लगा। उसकी गोली से माता-पिता भाई-बहन गंभीर रूप से घायल हो गए। गोलीबारी करने के बाद वह भाग निकला। हमलाेग दूध का काराेबार करते हैं। आरपीएफ जवान पवन सिंह भी मेरे यहां से दूध लेता था। वह समय पर पैसा नहीं देता था। इसलिए 25 दिन पहले उसे दूध देना बंद कर दिया था। इस कारण उसने घटना को अंजाम दिया। आराेपी कुछ दिनाें पहले ही रेलवे कॉलोनी में रहने आया है। हमें आभास ही नहीं था कि इतनी छोटी बात के लिए वह हमारा परिवार बर्बाद कर देगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments