कटड़ा-बनिहाल रेल लिंक पर बना अंजी केबल पुल

0
11

टड़ा-बनिहाल महत्वाकांक्षी रेल लिंक पर रियासी में बनने वाले अपनी तरह के अनोखे देश के पहले केबल ब्रिज का अहम पड़ाव हासिल कर लिया गया है। इस पुल की मजबूती देने के लिए पायलन (स्तंभ) तैयार कर लिया है। इसे कश्मीर को रेल नेटवर्क से जोड़ने की राह में अहम कदम माना जाता है। यह पुल इस ट्रैक पर सुरंग नंबर दो और तीन को आपस में जोड़ेगा और इसकी लंबाई 473 मीटर और चौड़ाई 15 मीटर होगी।

368 करोड़ से बन रहे इस पुल का निर्माण इसी साल पूरा होना है। यह पुल 260 किलोमीटर रफ्तार की तूफानी हवाओं को झेलने में सक्षम होगा। रियासी के अंजी नाले पर पुल के निर्माण की राह में कई चुनौतियां आईं।

368 करोड़ से बन रहे इस पुल का निर्माण इसी साल पूरा होना है। यह पुल 260 किलोमीटर रफ्तार की तूफानी हवाओं को झेलने में सक्षम होगा। रियासी के अंजी नाले पर पुल के निर्माण की राह में कई चुनौतियां आईं। इसके बिना इस रेल लिंक को पूरा करने का सपना साकार करना आसान नहीं था। हमारे इंजीनियरों ने हौसला नहीं हारा। आवश्यकता अनुसार डिजाइन बदला गया और पुल की तकनीक भी। अब यह मिशन सफलता के करीब जा पहुंचा है।

यहां की भौगोलिक चुनौतियां इस प्रकार हैं कि पुल का डिजाइन तय करने में ही कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। 2010 में इस प्रोजेक्ट पर माथापच्ची हो रही थी लेकिन कंपनियां आने को तैयार नहीं थी। रेलवे के इंजीनियरों ने इटली, फ्रांस और डेनमार्क में जाकर तकनीक को समझा और कई इंजीनियरों की टीम रियासी भी पहुंची थी।

पहले बनाया जाना था आर्च पुल: अंजी खड्ड पर पहले आर्च ब्रिज बनना था। निर्माण कंपनी ने पुराने डिजाइन के मुताबिक लगभग आधा दर्जन पिल्लर बना लिए थे। तकनीकी तौर पर पेंच फंसा और रेलवे बोर्ड की कमेटी ने इसका डिजाइन बदलने पर मंजूरी प्रदान की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here