Friday, September 24, 2021
Homeराजस्थानयूजी की 10% सीटाें के लिए ही आवेदन, कई विषयों में तो...

यूजी की 10% सीटाें के लिए ही आवेदन, कई विषयों में तो 0 प्रवेश

एक ओर प्रदेश में जहां यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए मारामारी है, वहीं एकमात्र संस्कृत यूनिवर्सिटी में कोई एडमिशन लेने के लिए तैयार नहीं है। संस्कृत यूनिवर्सिटी में तीन हफ्ताें से चल रही एडमिशन प्रक्रिया में शास्त्री (यूजी) की 520 सीटाें के लिए 15 एडमिशन और आचार्य (पीजी) की 520 सीटाें के लिए सिर्फ 106 आवेदन आए हैं।ऐसे ही हालात यूनिवर्सिटी द्वारा पहली बार जोर- शोर से शुरू किए गए ऑनलाइन काेर्सेज के भी हैं। इनमें 660 सीटाें पर एक भी छात्र ने अभी तक एक भी आवेदन नहीं आया है। इधर, कुलपति छात्र संख्या बढ़ाने के लिए शिक्षकों के साथ दो बार बैठक कर चुकी हैं। गाैरतलब है कि राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बाेर्ड से वरिष्ठ उपाध्याय परीक्षा 2021 में 3741 छात्र पास हुए हैं।

हालांकि इनके अलावा अन्य छात्र भी यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले सकते हैं। यूनिवर्सिटी की ओर से शास्त्री काेसलेन्द्रदास ने बताया कि यूनिवर्सिटी में छात्र संख्या बढ़ाने के लिए कुलपति डाॅ. अनुमा माैर्य द्वारा बैठक आयाेजित कर सभी तरह के प्रयास किये जा रहे हैं।

संबद्ध 52 निजी कॉलेजों की भी स्थित काफी खराब है

2020 में 419 छात्र

2021 मे 440 छात्र

यूनिवर्सिटी के लंबे चौड़े कैंपस में छात्राें की संख्या लगातार घटी है। वेद, ज्याेतिष गणित, जैन दर्शन, पुराण व इतिहास, धर्मशास्त्र जैसे विषयाें में ताे एक भी छात्र ने एडमिशन नहीं लिया है। एडमिशन की डेट 26 अगस्त है। यूनिवर्सिटी की व्यवस्थाओं पर हर साल 10 कराेड़ रुपए खर्च हाे रहे हैं। 52 निजी और सरकारी काॅलेजाें के हालात भी ठीक नहीं।

बीएड का रुझान भी कम

शिक्षा शास्त्री (बीएड) के हालात और भी खराब हैं। यूनिवर्सिटी से संबद्ध 66 काॅलेजाें में 8 हजार सीटें हैं, लेकिन 2100 ही आवेदन आए हैं। पिछले साल 3 हजार सीटें ही भर पाई थीं।

लेट लतीफी छात्रों पर भारी
संस्कृत यूनि. में शिक्षकों व प्रशासन में टकराव ने हालात और बिगाड़े हैं। समय पर परीक्षा नहीं होने और शिक्षकों की कमी से छात्र नहीं आ रहे हैं। कैंपस तक पहुंचने में भी परेशानी बड़ा कारण है।

पीएसएसटी के हाल खराब

यूनिवर्सिटी आने-जाने की व्यवस्था अच्छी नहीं है। न ही यूनिवर्सिटी में कोई सुनने वाला है। शिकायत पर भी निराकरण नहीं होता।
-सरोज कुमारी, छात्रा

आरयू; 34 हजार रजिस्ट्रेशन हुएफिलहाल अभी दो दिन बाकी हैं

आज से सरकारी काॅलेजाें में भी आवेदन शुरू

आरयू के संघटक काॅलेजाें में यूजी में एडमिशन लेने के लिए मंगलवार शाम तक 34,300 से ज्यादा छात्राें ने रजिस्ट्रेशन करवा लिया है। एडमिशन लेने के लिए छात्र 19 अगस्त तक आवेदन कर सकते हैं। बीए, बीकाॅम, बीएससी में सबसे ज्यादा वेदन आए हैं। वहीं बुधवार से प्रदेश के सरकारी काॅलेजाें में एडमिशन के लिए भी प्रक्रिया शुरू हाेने जा रही है। प्रदेश के सरकारी काॅलेजाें में 1.91 लाख सीटें हैं।

एडमिशन पाॅलिसी निकाली

उच्च शिक्षा विभाग ने काॅलेजाें में एडमिशन के लिए पाॅलिसी जारी की है। 12वीं के प्रतिशत के आधार पर एडमिशन हाेंगे। गर्ल्स एजुकेशन काे बढ़ावा देने के लिए सहशिक्षा काॅलेजाें में छात्राओं काे 3 प्रतिशत बाेनस के साथ अंतराल संबंधी नियम में छूट का प्रावधान है। जिन छात्राें ने 12वीं अतिरिक्त विषय लेकर उत्तीर्ण की है, उनकी एडमिशन वरीयता निर्धारण हेतु सर्वाधिक अंकाें वाले 5 विषयाें के अंकों को जोड़ा जाएगा, जिसमें एक भाषा काे हाेना अनिवार्य है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments