Thursday, September 16, 2021
Homeहरियाणाकरनाल-पानीपत में बरसे बदरा; 1.72 लाख हेक्टेयर में हुई खेती को मिलेगा...

करनाल-पानीपत में बरसे बदरा; 1.72 लाख हेक्टेयर में हुई खेती को मिलेगा लाभ

हरियाणा के करनाल जिले में 13 दिनों बाद शनिवार सुबह 4 बजे से शुरू हुई बारिश से जिले के किसान खुश नजर आए। बारिश के पानी से धान की फसल भी खिल उठी है। उपकृषि निदेशक आदित्य डबास ने तो इस बारिश को धान की फसल के लिए खाद के बराबर लाभदायक बताया है। जिले में 1.72 लाख हेक्टेयर एरिया में लगी धान की फसल पर 20 एमएम पानी गिरने से काफी लाभ होगा।

ज्यादातर बासमती धान की फसल लगी है। इसका चावल विदेशों में जाता है। धान रोपाई के साथ ही शुरुआती बारिश अच्छी हुई थी। उससे 15 दिनों तक किसानों को पानी की जरूरत नहीं पड़ी थी। इसके बाद भी बरसात धान के योग्य होती रही। अगस्त माह के पहले सप्ताह में मात्र 59 एमएम ही बरसात हुई थी। ऐसे में ज्यादातर जगह धान की फसल को दोबारा पानी की जरूरत थी, जो पूरी हो गई।

गर्मी से मिली राहत, तापमान भी गिरा

शनिवार को करनाल का अधिकतम तापमान 27.8 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 24.7 डिग्री दर्ज किया गया। 24 अगस्त तक ऐसा ही मौसम रहने की संभावना जताई गई है, जो धान की फसल के लिए काफी लाभदायक रहेगी। शनिवार को 6 घंटे में 20 एमएम बारिश हुई, जिससे शहर में जगह-जगह पानी भर गया। ऐसे में लोगों को काफी परेशानी हुई है। इससे पहले 8 अगस्त को करीब 11 एमएम बरसात हुई थी। इसके बाद लगातार तेज धूप निकल रही थी। ऐसे में शनिवार को हुई बारिश से गर्मी से काफी राहत मिली है।

बारिश के पानी से बिजली मीटरों में लगी आग

करनाल में सेक्टर-13 के खंभे पर लगे बिजली मीटरों पर बारिश का पानी गिरने से आग लग गई। घटना मूलचंद अस्पताल चौक पर हुई। इसकी सूचना निगम के कर्मचारियों को फोन करके दी गई और समय रहते आग पर काबू पा लिया गया। इससे बड़ी घटना होने से बच गई।

दिन लगातार घटने लगा

सावन माह का खत्म हो गया है। ऐसे में अब दिन काफी घट चुका है और रातें बढ़ने लगी हैं। सूर्यास्त होने का समय घटकर 6:58 बजे पर आ गया है। जबकि सूर्योदय 6:04 पर आ गया है। शनिवार को हवा में आर्द्रता 92 रिकॉर्ड हुई।

अगस्त माह में हुई बरसात (एमएम)

2015 – 70.2

2016 – 283.7

2017 – 162.8

2018 – 125.2

2019 – 101.2

2020 – 384.0

2021 – 80.8

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments