Wednesday, September 22, 2021
Homeविश्वबाइडन ने 31 अगस्त को अफगानिस्तान से हटने पर दिया जोर ,कहा-...

बाइडन ने 31 अगस्त को अफगानिस्तान से हटने पर दिया जोर ,कहा- हर दिन बढ़ रहा सैनिकों पर हमले का खतरा

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने मंगलवार को कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका 31 अगस्त तक अफगानिस्तान से सैन्य वापसी को लेकर तेजी से काम कर रहा है। वहीं, बाइडन ने कहा कि लक्ष्य तक पहुंचना देश के नए तालिबान शासकों के निरंतर सहयोग पर निर्भर करता है नहीं तो अमेरिकी बलों की अफगानिस्तान में समय सीमा बढ़ाए जाने की संभावना खुली हुई है।

बाइडन बोले कि तालिबान के साथ निरंतर समन्वय समय सीमा को पूरा करने के लिए महत्वपूर्ण है। बाइडन ने कहा कि उन्होंने पेंटागन और विदेश विभाग से समय सीमा को आगे बढ़ाने के लिए आकस्मिक योजना विकसित करने के लिए कहा जो आवश्यक लगे।

तालिबान ने मंगलवार को पहले कहा था कि देश से सभी विदेशी निकासी 31 अगस्त तक पूरी हो जानी चाहिए। व्हाइट हाउस में बात करते हुए बाइडन ने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका उस समय सीमा तक सैनिकों को बाहर निकालने के लिए तेजी से काम कर रहा है क्योंकि आतंकवादी हमलों के खतरे पर चिंताएं बढ़ रही हैं। उन्होंने कहा, ‘हम अपने मिशन को जितनी जल्दी खत्म कर सकें, उतना अच्छा।’ उन्होंने आगे कहा कि ऑपरेशन का प्रत्येक दिन हमारे सैनिकों के लिए अतिरिक्त जोखिम लाता जा रहा है।

बाइडन बोले कि तालिबान के साथ निरंतर समन्वय समय सीमा को पूरा करने के लिए महत्वपूर्ण है। बाइडन ने कहा कि उन्होंने पेंटागन और विदेश विभाग से समय सीमा को आगे बढ़ाने के लिए आकस्मिक योजना विकसित करने के लिए कहा जो आवश्यक लगे।

डेमोक्रेटिक राष्ट्रपति, जिनके प्रशासन की अफगानिस्तान से हटने को लेकर आलोचना की जा रही है, ने कहा कि अमेरिकी बलों ने अब तक 14 अगस्त से 70,700 लोगों को निकालने में मदद की है। बाइडन ने कहा कि उनका प्रशासन शरणार्थियों के प्रसंस्करण के लिए एक प्रणाली के पुनर्निर्माण के लिए काम कर रहा था, जिसे उन्होंने कहा था कि डोनाल्ड ट्रंप द्वारा ‘जानबूझकर नष्ट’ किया गया था।

उन्होंने आगे कहा कि हम सभी को उन हजारों अफगानों को फिर से बसाने के लिए मिलकर काम करना चाहिए जो अंततः शरणार्थी का दर्जा पाने के योग्य हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका अपने हिस्सा का काम करेगा।

दो अमेरिकी अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि हवाई अड्डे पर इस्लामिक स्टेट द्वारा आत्मघाती बम विस्फोटों के बारे में चिंता बढ़ रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments