बिहार : खेत गए बच्चे की पोखर में डूबने से हुई मौत

0
23

मध्यप्रदेश के कटनी में मण्णपूरम गोल्ड फायनेंस में हुए लूटकांड में मध्यप्रदेश पुलिस को एक सफलता हाथ लगी है। एमपी पुलिस ने पटना और बक्सर पुलिस की मदद से बक्सर से तीसरी गिरफ्तारी की है। पुलिस ने लूटकांड के बाद बक्सर में छिपकर रह रहे शहबाज खान को छापेमारी कर के गिरफ्तार कर लिया है। एमपी पुलिस शहबाज खान को लेकर पटना आ गई है।शहबाज नाम बदलकर कटनी में किराए के मकान में रह रहा था। उसने खुद को स्टूडेंट बताया था। उसके पास रणवीर के नाम का फर्जी आधार कार्ड भी था। इस आधार कार्ड में शहबाज की फोटो थी। 10 दिनों तक इसी किराए के मकान से उसने लूटकांड की रेकी की थी।

शहबाज ने पूछताछ में कई राज खोले हैं। शहबाज ने पुलिसिया पूछताछ में घटना में संलिप्त अपने अन्य साथियों के बारे में बताया है। पुलिस अब उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। फिलहाल पुलिस शहबाज से अभी भी कड़ाई से पूछताछ कर रही है।मंगलवार की देर रात एमपी पुलिस शहबाज को लेकर पटना के लिए रवाना हो गई। शहबाज से लगाताार पूछताछ की जा रही है। शहबाज के मुताबिक कटनी में डकैती करने वाले अपराधी पटना और आसपास के जिले में छिपे हुए हैं। कटनी के मण्णपूरम से हुए सोना लूट कांड में एमपी पुलिस को अभी भी चार अपराधियों की तलाश है।

शहबाज के अनुसार, पुलिस वैशाली के अखिलेश उर्फ विकास, पटना के अर्जुन उर्फ पीयूष, बक्सर के ही मिथलेश उर्फ धर्मेंद्र पाल और अमित सिंह उर्फ विक्कू की तलाश में छापेमारी कर रही है। शहबाज ने एमपी पुलिस को बताया है कि कटनी सोना लूटकांड में इस्तेमाल किए गए कट्‌टा पटना से ही ले गया था। उसने ही अपना नाम और पहचान बदल कर इस पूरी घटना की रेकी की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here