Saturday, September 25, 2021
Homeटॉप न्यूज़हिंसा के खिलाफ देशभर में धरना देगी भाजपा, आज बंगाल आएगी राष्ट्रीय...

हिंसा के खिलाफ देशभर में धरना देगी भाजपा, आज बंगाल आएगी राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम

बंगाल में हिंसा के खिलाफ भाजपा बुधवार को पूरे देशभर में धरना देगी। कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष नड्डा खुद धरने पर बैठेंगे। उल्लेखनीय है कि बंगाल में दो मई को आए विधानसभा चुनाव के नतीजे में सत्ताधारी टीएमसी की शानदार विजयी के बाद से ही राज्य के विभिन्न हिस्सों में हिंसा, आगजनी व लूटपाट का दौर जारी है। भाजपा का दावा है कि तृणमूल कार्यकर्ताओं के हमले में अब तक उसके नौ कार्यकर्ताओं की जानें जा चुकी हैं। साथ ही बड़ी संख्या में कार्यकर्ता घायल भी हुए हैं। पार्टी ने सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं के घरों पर हमले व आगजनी का दावा किया है।

भाजपा का दावा है कि तृणमूल कार्यकर्ताओं के हमले में अब तक उसके नौ कार्यकर्ताओं की जानें जा चुकी हैं। साथ ही बड़ी संख्या में कार्यकर्ता घायल भी हुए हैं। पार्टी ने सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं के घरों पर हमले व आगजनी का दावा किया है।

बंगाल में विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद जारी हिंसा पर केंद्र ने सख्त रुख दिखाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को फोन कर हिंसा पर चिंता जताई और इसे रोकने के लिए कदम उठाने को कहा। प्रधानमंत्री और गृह मंत्रालय के सख्त रुख के बाद बंगाल की कार्यवाहक मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार शाम अपने आवास पर राज्य के आला अधिकारियों के साथ अहम बैठक की।

आज बंगाल आएगी राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम

बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी की प्रचंड जीत के बाद बीरभूम जिले के नानूर से भाजपा उम्मीदवार तारक साहा की पोलिंग एजेंट बनी दो महिला कार्यकर्ताओं से टीएमसी के लोगों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म किए जाने की घटना पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने स्वतः संज्ञान लिया है। राष्ट्रीय महिला आयोग की प्रमु्ख रेखा शर्मा बुधवार को बंगाल आ रही हैं और वह टीम के सदस्यों के साथ पीड़ित महिलाओं से मुलाकात करेंगी। कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी ट्वीट कर हिंसा की निंदा करते हुए ममता बनर्जी से कार्रवाई करने की अपील की है।

दूसरी और जेपी नड्डा ने कहा, बंगाल में चुनाव परिणाम के बाद हिंसा की घटनाओं ने हमें दुखी और हैरान किया है। मैंने ऐसी घटनाओं के बारे में भारत के बंटवारे के वक्त सुना था। आजाद भारत में चुनाव परिणाम के बाद पहले कभी ऐसी असहिष्णुता नहीं देखी थी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments