Tuesday, September 28, 2021
Homeहरियाणाहरियाणा में बढ़ा ब्‍लैक फंगस का कहर, दो मरीजों की निकालनी पड़ीं...

हरियाणा में बढ़ा ब्‍लैक फंगस का कहर, दो मरीजों की निकालनी पड़ीं आंखें और तीन की मौत

हरियाणा में म्यूकरमाइकोसिस यानि ब्‍लैक फंगस (Black Fungus) लगातार अपने पांव पसार रही है और राज्‍यभर से इसके मामले सामने आ रहे हैं। अंबाला में ब्‍लैक फंगस से ग्रस्‍त दो मरीजों की आंखें निकालनी पड़ीं। इसके अलावा सिरसा में इसके दो मरीजों की मौत हो गई है। हिसार के अग्रोहा मेडिकल कालेज में अब तक ब्‍लैक फंगस के 19 मरीज आए हैं। इससे झज्‍जर में ब्‍लैक फंगस से एक मरीज की मौत हो गई है।

हरियाणा में ब्‍लैक फंगस के मामले लगा बढ़ रहे हैं। राज्‍य में अंबाला में ब्‍लैक फंगस स्र ग्रस्‍त दो मरीजाें की आंखें निकालनी पड़ीं। बलैक फंगस से सिरसा में दो मरीजों और झज्‍जर में एक मरीज की मौत हो गई। अग्रोहा मेडिकल कालेज में 19 मामले आए हैं।

मुलाना मेडिकल कालेज एवं अस्पताल में दो मरीजों की आंखें निकाली गईं,  एक पटना का रहनेवाला

अंबाला के मुलाना मेडिकल कालेज एवं अस्पताल में दाखिल दो मरीजों की आंख में इन्फेक्शन इस कदर फैल गया कि उनकी आंखों काे  निकालना पड़ा। स्थिति ऐसी थी कि आंख से यह इन्फेक्शन ब्रेन में जाने का खतरा पैदा हो गया था, जिसके चलते डाक्टरों ने यह कदम उठाया। इनमें एक महिला मरीज 54 वर्षीय परविंदर कौर मुलाना की रहने वाली है और वह डायबिटीज की मरीज हैं।

दूसरे मरीज बिहार के पटना के राजीव नारायण सिंह हैं। उनके पुत्र इस अस्पताल में डाक्टर हैं। राजीव हाल में ही कोरोना संक्रमण से रिकवर हुए थे। उल्लेखनीय है कि अंबाला में ब्लैक फंगस का यह चौथा मामला है। इससे पहले शहजादपुर का अश्वनी ब्लैक फंगस की चपेट में आए थे और उनका इलाज चंडीगढ़ पीजीआइ में चल रहा है। अंबाला कैंट के करधान के रहने वाले रणधीर सिंह भी इस संक्रमण की चपेट में आ गए थे। रणधीर सिंह का आपरेशन अंबाला शहर नागरिक अस्पताल में किया गया, जिसके बाद वह स्वस्थ हैं

” मुलाना से एक महिला ब्लैक फंगस से पीडि़त आई है। फंगस ज्यादा न बढ़े इसके लिए उनका ऑपरेशन कर आंख निकाल दी गई हैं। ऑपरेशन के बाद उनकी स्थिति स्थिर है। इसी तरह पटना के एक अन्य मरीज भी ब्लैक फंगस से पीडि़त है। ऑपरेशन कर उसकी भी आंख निकालनी पड़ी

सिरसा में दो मरीजों की मौत

उधर सिरसा जिले में ब्लैक फंगस से दो रोगियों की मौत हुई है। इनमें एक संक्रमित गांव चाहरवाला तथा दूसरा बरूवाली प्रथम का निवासी है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने संक्रमित मरीजों की मौत की पुष्टि की है। जिले में ब्लैक फंगस के अब तक नौ रोगी मिल चुके हैं। ब्लैक फंगस से प्रदेश में अब तक तीन मरीजों की मौत हो चुकी है। इससे पहले झज्जर के एक संक्रमित की मौत हुई थी।

जिले के बरूवाली प्रथम निवासी 45 वर्षीय व्यक्ति के दिमाग में संक्रमण पहुंच गया था। सिरसा के निजी अस्पताल में उसका उपचार चला था। उसके बाद राजस्थान के जयपुर स्थित अस्पताल में उसका ऑपरेशन कराया गया। रविवार को उसकी मौत हो गई। वहीं दूसरी मौत गांव चाहरवाला निवासी व्यक्ति की हुई। उसका भी जयपुर में ऑपरेशन हुआ था।

संक्रमण का एक और केस आया

सिरसा के ही हिसार रोड पर स्थित निजी ईएनटी अस्पताल के संचालक डा. सुदीप मुंजाल ने बताया कि एक और मरीज में ब्लैक फंगस के संक्रमण का अंदेशा है। सोमवार को मरीज का आपरेशन किया गया है। उन्होंने मरीज के बारे में स्वास्थ्य विभाग को सूचना दे दी है।

”जिले में ब्लैक फंगस के नौ मरीज मिल चुके हैं। संक्रमण के कारण दो लोगों की मौत हुई है। इस बारे में मुख्यालय को सूचना दे दी गई है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments