Sunday, September 19, 2021
Homeविश्वनाटो समिट : कनाडा के प्रधानमंत्री ने ट्रम्प का मजाक उड़ाया, कॉन्फ्रेंस...

नाटो समिट : कनाडा के प्रधानमंत्री ने ट्रम्प का मजाक उड़ाया, कॉन्फ्रेंस बीच में छोड़कर लौटे अमेरिकी राष्ट्रपति

लंदन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के बीच बुधवार को एक बार फिर विवाद हो गया। इस बार दोनों नेताओं ने कैमरे पर एक-दूसरे का मजाक उड़ाया। ट्रूडो ने बकिंघम पैलेस में बातचीत के दौरान चार देशों के नेताओं के सामने ट्रम्प को चिढ़ाया। वहीं ट्रम्प ने जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल के साथ बैठक में ट्रूडो को दोमुंहा बता दिया। इतना ही नहीं, ट्रम्प अपने ऊपर किए गए मजाक से इतने नाराज हो गए कि उन्होंने ने नाटो समिट की आखिर में कॉन्फ्रेंस छोड़ दी और अमेरिका लौट गए।

ट्रूडो ने ट्रम्प के लिए क्या कहा?
नाटो सेक्रेटरी जनरल जेंस स्टोलटेनबर्ग के साथ बैठक में ट्रम्प ने करीब 53 मिनट लंबा भाषण दिया। व्हाइट हाउस के मुताबिक, उन्हें सिर्फ 20 मिनट ही बोलना था। इसके बाद ट्रम्प फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों के साथ बातचीत के लिए पहुंचे। यहां भी ट्रम्प ने करीब 38 मिनट अतिरिक्त समय बातचीत और प्रेस कॉन्फ्रेंस में लगाया। इसके बाद जब मैक्रों बकिंघम पैलेस में बाकी नेताओं से मिले तो ट्रूडो ने उनके लेट होने पर तंज कसा।

बकिंघम पैलेसे के वीडियो में ट्रूडो को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, नीदरलैंड्स के प्रधानमंत्री मार्क रुट और महारानी एलिजाबेथ की बेटी प्रिंसेज एन के साथ खड़े दिखाया गया। फुटेज की शुरुआत में जॉनसन मैक्रों से पूछते हैं कि आप कहां लेट हो गए? इस पर ट्रूडो बीच में टोकते हुए कहते हैं- मैक्रों लेट हैं, क्योंकि वे अपनी बातचीत के आगे 40 मिनट की अतिरिक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हैं। ट्रूडो आगे कहते हैं- “आपने उनकी (ट्रम्प की) टीम को देखा, वे कैसे अवाक रह जाते हैं।”

ट्रम्प ने क्या जवाब दिया?
ट्रम्प ने ट्रूडो और अन्य नेताओं का वीडियो वायरल होने के बाद जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल के साथ बैठक में कहा, “ट्रूडो दोमुंहा आदमी है। मैं उसे अच्छा आदमी समझता था, लेकिन सच्चाई यह है कि मैंने उसे कनाडा की रक्षा के लिए अपनी जीडीपी का 2% हिस्सा खर्च करने के लिए कहा था। लगता है कि वह मेरी इस बात से खफा हो गया। उनके पास पैसा है। वे जितना खर्च कर रहे हैं, उन्हें उससे ज्यादा खर्च करना चाहिए।’’

नाटो की प्रेस कॉन्फ्रेंस बीच में छोड़कर रवाना हुए ट्रम्प 
नाटो गठबंधन के 70 साल पूरे होने पर नेताओं ने स्टेटमेंट ऑफ यूनिटी के लिए कॉन्फ्रेंस करने का वादा किया था। हालांकि, ट्रम्प ने गुस्से में कॉन्फ्रेंस छोड़ दी और अमेरिका लौट गए। उन्होंने रिपोर्टर्स से कहा- हम सीधे वापस जाएंगे। हमें लगता है कि हमने ज्यादा न्यूज कॉन्फ्रेंस कर ली हैं।

ट्रम्प-ट्रूडो में पहले भी विवाद हो चुका है
ट्रम्प और ट्रूडो के बीच पिछले साल कनाडा में आयोजित जी-7 समिट के दौरान भी तल्खी देखी गई थी। तब भी ट्रम्प कॉन्फ्रेंस को बीच में छोड़कर रवाना हो गए थे। ट्रूडो ने जी-7 में ट्रम्प पर व्यापार और आयात शुल्क के मुद्दे को बढ़ाने का आरोप लगाया था। इस पर ट्रम्प ने कहा था कि ट्रूडो के बयान झूठे होते हैं और वे एक कमजोर नेता हैं। इसके अलावा जी-7 में रूस को शामिल करने की ट्रम्प की पेशकश पर बाकी 6 देशों ने उनसे असहमति जताई थी। ट्रम्प ने इस पर कॉन्फ्रेंस को बीच में ही छोड़ दिया था।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments