Tuesday, September 28, 2021
Homeउत्तर-प्रदेशउन्नाव हादसा : सीबीआई ने जांच शुरू की, विधायक कुलदीप समेत 25...

उन्नाव हादसा : सीबीआई ने जांच शुरू की, विधायक कुलदीप समेत 25 के खिलाफ दर्ज की एफआईआर

लखनऊ. उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के साथ रविवार को हुई दुर्घटना की सीबीआई ने जांच शुरू कर दी। बुधवार को सीबीआई टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर तफ्तीश की। अधिकारियों ने आसपास के लोगों से भी पूछताछ की। इससे पहले सीबीआई ने पीड़िता की दुर्घटना मामले में विधायक कुलदीप सेंगर और उनके भाई मनोज समेत 10 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया। सीबीआई ने 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी हत्या, हत्या के प्रयास और आपराधिक साजिश रचने का मुकदमा दर्ज किया है।

रविवार को उन्नाव से रायबरेली जाते हुए दुष्कर्म पीड़िता का परिवार सड़क हादसे का शिकार हो गया था। इसमें पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी जबकि पीड़िता और उसके वकील गंभीर तौर पर घायल हुए थे। दोनों को लखनऊ के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। जहां उनकी हालत नाजुक बनी हुई है।

अखिलेश ने सरकार पर लगाया पीड़िता को सुरक्षा न देने का आरोप

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात की। हालांकि मिलने के बाद अखिलेश ने इसे एक शिष्टाचार भेंट बताया लेकिन इस दौरान वह उन्नाव दुर्घटना मामले को लेकर राज्य सरकार पर हमला करने से नहीं चूके। अखिलेश ने कहा कि कि यदि सरकार की ओर से पीड़िता को उचित सुरक्षा उपलब्ध कराई गई होती तो इस तरह की दुर्घटना नहीं होती।

राज्य ने की थी सीबीआई जांच की सिफारिश

पीड़िता के परिवार ने विधायक कुलदीप सेंगर पर हत्या की साजिश का आरोप लगाया था। पीड़िता के जेल में बंद चाचा की तहरीर पर पुलिस ने रायबरेली के गुरुबख्शगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया था। इसमें विधायक सेंगर समेत 10 नामजद और 15-20 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। सीबीआई ने भी इसी एफआईआर को आधार मानते हुए मुकदमा दर्ज किया है। पीड़ित परिवार ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी, जिसके बाद राज्य सरकार ने मामला सीबीआई को सौंप दिया था।

इन्हें बनाया नामजद आरोपी
सीबीआई की तरफ से दर्ज एफआईआर में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर उसके भाई मनोज सिंह सेंगर के अलावा विनोद मिश्रा, हरिपाल सिंह, नवीन सिंह, कमल सिंह, अरुण सिंह, ज्ञानेंद्र सिंह, रिंकू सिंह, वकील अवधेश सिंह को आरोपी बनाया है।उन्नाव के नवाबगंज निवासी अरुण सिंह योगी सरकार में मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह के दामाद बताए जा रहे हैं। हालांकि उनका नाम सीबीआई द्वारा दर्ज पहले एफआईआर में नहीं है।

दुष्कर्म पीड़िता की चाची का हुआ अंतिम संस्कार

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की चाची का शव बुधवार को पुलिस गांव लेकर पहुंची। इसके बाद शव को शुक्लागंज के बालूघाट ले जाया गया, जहां उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। पीड़िता के चाचा ने अपनी पत्नी को मुखाग्नि दी। इस बीच अंतिम संस्कार को देखते हुए पुलिस प्रशासन की तरफ से सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments