मप्र : भोपाल सहित 18 शहराें में 61 जगह सीबीआई के छापे, 17 एफआईआर

0
73

नई दिल्ली . बैंकाें का कर्ज नहीं चुकाने वालाें के खिलाफ सीबीअाई ने मंगलवार काे देशभर में पहली बार एक साथ बड़ी कार्रवाई की। 300 से ज्यादा अधिकारियाें ने 18 शहराें में 61 जगहाें पर छापे मारे। 1,139 कराेड़ रुपए का कर्ज नहीं चुकाने के अाराेप में 17 एफअाईअार दर्ज की गई हैं।

अधिकारियाें ने बताया कि छापाें में मिली जानकारियाें के अाधार पर देर शाम तक एफअाईअार दर्ज करने की प्रक्रिया चल रही थी। सीबीअाई काे डिफाॅल्टराें की सूची विभिन्न नेशनलाइज्ड बैंकाें से मिली थी। छापे कहां-कहां मारने हैं, इसकी लिस्ट सीबीअाई डायरेक्टर ऋषि शुक्ला की निगरानी में ही तैयार हुई थी। सीबीअाई की कार्रवाई में दिल्ली, मुंबई, लुधियाना, ठाणे, वलसाड, पुणे, पलानी, गया, गुरुग्राम, चंडीगढ़, भाेपाल, सूरत अाैर काेलार सहित अन्य शहराें में छापेमारी की गई।  शुरुअात में डिफाॅल्ट की रकम 640 कराेड़ रु. सामने अाई थी, लेकिन दिनभर की छापेमारी के बाद अांकड़ा बढ़कर 1,139 कराेड़ रुपए तक पहुंच गया।   सीबीआई ने भाेपाल में रंजीत अाॅटाे माेबाइल फर्म के संचालक गुरमीत सिंह बजाज के इंद्रपुरी अाैर पार्टनर हर्ष काैर के जाटखेड़ी स्थित मकान पर छापे मारे।

अाराेप हैं कि उनके द्वारा अपनी फर्म के नाम पर बैंक अाॅफ बड़ाैदा की हबीबगंज शाखा से कैश क्रेडिट लिमिट ली गई थी। इसमें गलत जानकारी देकर उन्हाेंने 2010 से 2017 के बीच 34 कराेड़ रूपए से ज्यादा भुगतान प्राप्त किया अाैर बैंक काे यह राशि वापस नहीं की। 31 मार्च 2017 काे बैंक ने इसे एनपीए घाेषित कर दिया।

इन कंपनियाें के खिलाफ दर्ज की गई है एफअाईअार

कंपनीबैंकलाेन
सुप्रीम टैक्स मार्ट, लुधियानाएसबीअाई143.25 कराेड़
एेजन बैटरीज, बेंगलुरूएसबीअाई98.75 कराेड़
रामनंदी हाेटल्स एंड रिजाॅर्ट, गयासेंट्रल बैंक अाॅफ इंडिया131.79 कराेड़
नाफ्टाेगज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, नाेएडाकाॅर्पाेरेशन बैंक93 कराेड़
एसएल कंज्यूमर प्राेडक्ट्स लि., दिल्लीयूनियन बैंक अाॅफ इंडिया55 कराेड़
सम्पर्श फूड लिमिटेड, अलीगढ़यूनियन बैंक अाॅफ इंडिया60 कराेड़
इंटरनेशनल मेगा फूड पार्क लि., चंडीगढ़ –सिडबी40.17 कराेड़
रंजीत अाॅटाेमाेबाइल्स, भाेपालबैंक अाॅफ बड़ाैदा34.36 कराेड़
जाल्पा टैक्सटाइल्स प्रा. लि., सूरतबैंक अाॅफ बड़ाैदा28 कराेड़
  • भुवनेश्वर में यूनियन बैंक अाॅफ इंडिया की एक ब्रांच में हाउस लाेन में अनियमितता की एफअाईअार में बैंक के वरिष्ठ अधिकारी भी अाराेपी बनाए गए हैं। इससे बैंक काे 24.17 कराेड़ रुपए का नुकसान हुअा।

…इधर, भोपाल में लोकायुक्त ने भी दी दबिश

कार्यपालन यंत्री व्यास के घर एक किलो सोना और करोड़ों की संपत्ति का पता चला : लोकायुक्त पुलिस की टीम ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में मंगलवार की सुबह सीधी में पदस्थ सिंचाई विभाग के कार्यपालन यंत्री सुनील व्यास के भोपाल में दो ठिकानों पर छापा मारा। एक टीम ने उनके घर की तलाशी ली, जबकि दूसरी टीम ने उनके पिता के घर में सर्चिंग की। इसके अलावा टीम ने सीधी स्थित आॅफिस एवं आवास पर छापा मारा है। कार्रवाई के दौरान करोड़ों की प्रॉपर्टी, करीब 5 लाख के अलग-अलग कंपनियों के शेयर, सोने और चांदी के बर्तन मिले हैं। लोकायुक्त पुलिस की कार्रवाई देर रात कर जारी थी। लोकायुक्त पुलिस के मुताबिक, सिंचाई विभाग में पदस्थ कार्यपालन यंत्री सुनील व्यास का गुलमोहर काॅलोनी की कृष्णा विहार ग्रीन हाइट आलीशान मकान है। जबकि उनके पिता रिटायर बैंक मैनेजर एमएल व्यास ई-7 अरेरा काॅलोनी में रहते हैं।

जमीन, मकान और कई फ्लैट का मालिक : कृष्णा विहार ग्रीन हाइट स्थित बंगले से एक किलो सोना, 11 किलो चांदी के जेवर (जिसमें पूजा घर में रखी भगवान की मूर्तियां भी शामिल), दो लाख नगदी एवं दो गाड़ियां, बैंकों की एफडी, दो लॉकर एवं ग्राम बिजलोंन सीहोर, मेंडोरी और गेहूंखेड़ा में फार्म हाउस, कोलार रोड पर बंगला, सहयोग परिसर ई-1 ग्रीन सिटी, कृष्णा विहार और अरेरा कॉलोनी में फ्लैट और बंगले के दस्तावेज, लोन, एलआईसी, एफडी और लगभग 5 लाख के शेयर में इंवेस्ट का हिसाब मिला है। टीम ने पूजा घर में मिली चांदी की मूर्तियों की जब्ती नहीं बनाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here