चंडीगढ़ : राष्ट्रपति के प्रोग्राम में गवर्नर की सिटिंग पर विवाद

0
24

चंडीगढ़ की सुखना लेक पर शनिवार को एयरफोर्स का एयर शो आयोजित हुआ था। इस कार्यक्रम में हरियाणा के गवर्नर बंडारू दत्तात्रेय के प्रोटोकाल को लेकर विवाद शुरू हो गया है। हरियाणा सरकार ने इस पर आपत्ति जताई है। उन्होंने केंद्र सरकार से भी इसकी शिकायत की है। एयर शो के दौरान हरियाणा गवर्नर को राष्ट्रपति से दो सीट छोड़कर बिठाया गया। वहीं पंजाब के गवर्नर और चंडीगढ़ के प्रशासक बनवारी लाल पुरोहित को राष्ट्रपति के बगल में बैठाया गया।

राष्ट्रपति के किसी कार्यक्रम के प्रोटोकाल के अनुसार यदि वहां उपराष्ट्रपति या प्रधानमंत्री नहीं हैं तो राज्यपाल को उनके पास वाली सीट पर बैठना चाहिए। चंडीगढ़ पंजाब और हरियाणा की संयुक्त राजधानी है। ऐसे में उनका राष्ट्रपति के बगल में बैठने का प्रोटोकॉल था। मगर, कल हुए चंडीगढ़ में एयर शो के दौरान ऐसा नहीं हुआ है और हरियाणा गवर्नर को राष्ट्रपति के पास वाली सीट के बजाय एयर चीफ मार्शल और उनकी पत्नी के बाद बिठाया गया।

आयोजक दावा कर रहे हैं कि यह चूक राजभवन स्तर पर हुई है। कार्यक्रम का सिटिंग प्लान चंडीगढ़ की ओर से पहले ही राजभवन भेज दिया गया था, लेकिन वहां से धरातल पर निरीक्षण के लिए कोई भी अधिकारी नहीं पहुंचा। सिटिंग प्लान पर जब कोई आपत्ति नहीं हुई तो शो के दौरान हरियाणा गवर्नर को पहले से ही तय स्थान पर बैठना पड़ा।

चंडीगढ़ के प्रशासक के सलाहकार IAS धर्मपाल ने कहा कि यह कार्यक्रम चंडीगढ़ प्रशासन का नहीं था। व्यवस्था में प्रशासन ने सहयोग किया, लेकिन जिनका कार्यक्रम होता है उन्हीं की तरफ से सिटिंग प्लान तैयार किया जाता है। उसी के हिसाब से ही शो में आए मेहमानों को बिठाया गया था।देश के राष्ट्रपति के किसी भी कार्यक्रम में सिर्फ विशिष्ट व्यक्ति और अधिकारी ही शामिल हो सकते हैं। इसमें प्रदेश के गवर्नर, CM, मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक और महानिरीक्षक, सरकार के सचिव (राजनीतिक), पुलिस आयुक्त, जिलाधिकारी, रक्षा सेवाओं के वरिष्ठ अधिकारी ही राष्ट्रपति के कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं। राष्ट्रपति का स्वागत एयरपोर्ट पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here