Wednesday, September 22, 2021
Homeचंडीगढ़चंडीगढ़ के आर्टिस्ट वरूण ने दीये से तैयार किए पोट्रेट

चंडीगढ़ के आर्टिस्ट वरूण ने दीये से तैयार किए पोट्रेट

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सेक्टर-17 स्थित TS सेंट्रल स्टेट लाइब्रेरी के ऑडिटोरियम में आर्टिस्ट वरूण टंडन ने शहीदों के पोट्रेट डिसप्ले किए हैं। इन पोट्रेट्स को पेन, ब्रश, पेंट से नहीं, बल्कि स्मोक से बनाया गया है। इनके बारे में वरूण ने बताया कि मैंने नए मीडियम आइवरी शीट और स्टील के दीये के इस्तेमाल से 20 शहीदों के पोट्रेट बनाए हैं। जिन्हें बनाने में 15 दिन का समय लगा। इस तरह से बनाना आसान नहीं था। शीट को एक हाथ में पकड़ कर दूसरे हाथ से दीया पकड़ा और पोट्रेट के मुताबिक जहां खाली जगह रखनी थी वहां गत्ता रखा और जहां बनाना था वहां स्मोक का सहारा लिया। यह पोट्रेट लाइब्रेरी में शनिवार को डिसप्ले किए गए हैं, जिन्हें देखने कोई भी आ सकता है। समय सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे का है।

दीये से पोट्रेट बनाते वरूण।
दीये से पोट्रेट बनाते वरूण।

पोट्रेट बनाने के इस कॉन्सेप्ट के बारे में जब वरूण से पूछा तो उन्होंने बताया कि जिस तरह से दीया जलाने से अंधकार दूर हो जाता है और चारों ओर प्रकाश फैलता है, उसी तरह इन शहीदों ने बलिदान देकर देश व लोगों को गुलामी के अंधेरे से निकलकर आजादी यानी प्रकाश दिया है। दूसरा यंग जेनरेशन को शहीदों के बारे में बताने और जागरूक करने के लिए मैंने ऐसा किया। इसके अलावा हर बार काम करने के लिए डिफरेंट मटीरियल या तरीके अपनाने की कोशिश करता हूं।

QR कोड भी

वरूण ने बताया- मैंने हर पोट्रेट पर एक QR कोड भी लगाया है। ताकि लोग जिस भी शहीद के बारे में जानना चाहेंगे, उनके पोट्रेट पर लगे QR कोड को स्कैन कर उनके बारे में पढ़ सकते हैं।

पहली बार हल्की-सी शीट जल गई थी

नया प्रयोग करते समय पेश आई चुनौतियों के बारे में बताचे हुए वरूण बोले कि नया प्रयोग करते हैं, तो चुनौतियां आती ही हैं, लेकिन इससे बाहर निकलना पड़ता है। पहली कोशिश की तो शीट हल्की-सी जल गई। अगली बार पता चल गया था कि कैसे बनाना है।

इनके बनाए पोट्रेट।
इनके बनाए पोट्रेट।

इनके बनाए पोट्रेट

शहीद मदन लाल ढींगरा, शहीद करतार सिंह सराभा, शहीद बिनोय बासु, शहीद बाघा जतिन, शहीद मंगल पांडे, शहीद उधम सिंह, शहीद लाला लाजपत राय, शहीद भगत सिंह, शहीद सुखदेव, शहीद राजगुरू, शहीद दिनेश गुप्ता, शहीद खुदी राम बोस, शहीद सूर्या सेन, शहीद टिकेन्द्रजीत सिंह, शहीद प्रीतिलता वादेदार, शहीद विष्णु गणेश पिंगले, राजेन्द्रनाथ लाहिड़ी, शहीद जतिंद्र नाथ दास, बसंत कुमार बिस्वास, शहीद बादल गुप्ता।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments