Thursday, September 23, 2021
Homeछत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ : छॉलीवुड मूवी शो के दौरान छेड़खानी के विरोध में टॉकीज...

छत्तीसगढ़ : छॉलीवुड मूवी शो के दौरान छेड़खानी के विरोध में टॉकीज मैनेजर और कर्मचारी को पेट्रोल डालकर जलाया

बिलासपुर. छॉलीवुड मूवी के शो के दौरान मंगलवार शाम को हुए विवाद को सुलझाना टॉकीज मैनेजर और उसके एक कर्मचारी पर भारी पड़ गया। दोनों पक्षों का विवाद तो शांत हो गया, लेकिन इसकी रंजिश में बदमाशों ने टॉकीज मैनेजर और कर्मचारी पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। इसके बाद अफरा तफरी मच गई। सूचना पर मुंगेली थाना पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर टॉकीज मैनेजर की हालत गंभीर देख बिलासपुर रेफर कर दिया गया है।

छेड़खानी के विवाद के बाद पुलिस बुलाई, पर आरोपी को नाबालिग बता थाने ले जाकर छोड़ा

  1. जानकारी के मुताबिक, मुख्य रोड स्थित मनुराज टॉकीज में छत्तीसगढ़ी फिल्म हंस झन पगली फंस जबे लगी है। शो के दौरान दो व्यक्ति सिनेमा देख रही महिला के साथ छेड़खानी कर रहे थे। जिस पर टॉकीज के कर्मचारियों ने युवकों को मना किया। कर्मचारियों ने युवकों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने तो घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। इस पर पुलिस टॉकीज पहुंची तो दोनों में से एक युवक फरार हो गया और दूसरे पुलिस थाने में गई।
  2. हालांकि कुछ देर बाद पुलिस ने नाबालिग होने का हवाला देते हुए आरोपी को छोड़ दिया। आरोप है कि इसके बाद ही दो युवक बदले की नीयत से टॉकीज पहुंचे और टिकट काउंटर पर बैठे कर्मचारी ओमप्रकाश पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। इस पर वह चिल्लाता  हुआ काउंटर से बाहर भागा। उसे बचाने के प्रयास में एक अन्य कर्मचारी सलारू भी चपेट में आकर झुलस गया। लोगों के सहयोग से दोनों को सामने अस्पताल में भर्ती कराया गया। सलारू 5 फीसदी, जबकि ओमप्रकाश 40 से 50 प्रतिशत झुलस गया था।
  3. पुलिस से भीड़ के चलते मांगा था सहयोग, लेकिन नहीं मिला

    भीड़ के चलते पुलिस से मांगा था सहयोग, लेकिन कुछ नहीं हुआ
    फिल्म देखने के लिए रोज ही लोगों की भीड़ टॉकीज में उमड़ती है। हालात यह हो जाते हैं कि भीड़ को संभालना मुश्किल हो जाता है। टॉकीज संचालक का कहना है कि भीड़ के कारण टॉकीज के सामने का मुख्य मार्ग अवरुद्ध हो जाता है और परेशानी होती है। इसके सिटी कोतवाली के थाना प्रभारी को व पुलिस अधीक्षक को इसकी जानकारी देकर सुरक्षा के लिए पुलिस गार्ड नियुक्त करने की मांग कई बार की थी, लेकिन पुलिस की व्यवस्था विभाग की ओर से नहीं की गई।

जल्दी करेंगे आरोपियों को गिरफ्तार

घटना के संदर्भ में जिसमें एक प्रकरण में धारा 307 व दूसरे रिपोर्ट पर धारा 325, 294 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है। शीघ्र ही अपराधियों की गिरफ्तारी कर कार्रवाई की जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments