छत्तीसगढ़ :स्टेशन के 10 मीटर ऊंचे चार पेड़ों को रेलवे ने किया शिफ्ट, 3 किमी दूर कॉलोनी में लगाए

0
99

रायपुर . स्टेशन परिसर में बन रहे एक्सप्रेस-वे की जद में आ रहे चार बड़े पेड़ों को काटने के बजाए इसकी शिफ्टिंग की गई है। स्टेशन में जहां से एक्सप्रेस-वे शुरू होगा, उसी जगह पर एक यात्री शेड बनाने की योजना है। पिछली रात यात्री शेड वाली जगह से 10 मीटर ऊंचाई के महानीम के चार पेड़ों को जड़ से उखाड़ा गया। इन चारों पेड़ों को स्टेशन से करीब तीन किमी दूर डब्ल्यूआरएस कॉलोनी में फिर से लगाया गया है।

डीआरएम कौशल किशोर के निर्देश पर पेड़ों को काटने के बजाए इसे शिफ्ट किया गया है। डीआरएम ने बताया कि एक पेड़ को लगाने और इसके बड़े होने में सालों लग जाता है। इसलिए जहां तक संभव होगा, पेड़ों को जड़ से उखाड़कर किसी अन्य जगह पर लगाने के लिए संबंधित विभागों से कहा गया है।

खाली जगह में होगा पौधरोपण : पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में कदम बढ़ाते हुए रेलवे अब अपने खाली पड़े जगहों पर पौधरोपण करेगा। खाली जगहों पर पेड़ लगाने का उद्देश्य पर्यावरण संरक्षण के साथ ही अतिक्रमण से बचाना भी है। जानकारी के मुताबिक जिन पटरियों के किनारे अधिक जमीन हैं, उन हिस्सों में पेड़-पौधे लगाए जाएंगे। अतिक्रमण को हटाकर उस जमीन पर पेड़ लगाने की भी तैयारी रेलवे कर रहा है।

पहले का प्रयोग रहा है सफल  : रेलवे ने इससे पहले भी कई बड़े पेड़ों को उखाड़कर अन्य जगहों पर शिफ्ट किया है। पिछले साल जुलाई में ट्रैक मशीन शेड बनाने के दौरान चार पेड़ों को उखाड़कर शिफ्ट किया गया है। इसमें शीशम, नीम व गुलमोहर के पेड़ हैं। इससे पहले अगस्त-2017 में रेलवे अधिकारियों के लिए एक रेस्ट हाऊस बनाया गया। इस दौरान शीशम के दो पेड़ों को डब्ल्यूआरएस कॉलोनी में स्थानांतरित किया गया था। अन्य जगहों पर शिफ्ट किए गए सभी पेड़ हरे-भरे हो गए हैं और विकसित हो रहे हैं। पेड़ों की शिफ्टिंग का यह प्रयोग सफल रहा। इसके बाद से ही रेलवे प्रशासन पेड़ों को काटता नहीं है। बता दें कि डब्ल्यूआरएस कॉलोनी में जंगल जैसे पेड़ हैं और पूरा इलाका हरा-भरा है। रेलवे प्रशासन इस हरियाली को बरकरार रखना चाहता है।

पर्यावरण संरक्षण का देंगे संदेश  : रेलवे बोर्ड के निर्देश पर रायपुर मंडल सहित पूरे जोन में पर्यावरण सरंक्षण करने व पेड़ लगाने के संदेश दिए जाएंगे। इसके लिए ट्रेनों में विज्ञापन लगाकर, टिकट में संदेश लिखकर और नुक्कड़ नाटक के माध्यम से यात्रियों को जागरूक करने का काम किया जाएगा। स्टेशन परिसर के साथ ही डब्ल्यूआरएस कॉलोनी व सभी रेलवे आवासीय कॉलोनियों में पेड़ लगाए जाएंगे। मिली जानकारी के मुताबिक कुछ ऐसे पेड़ों को शिफ्ट भी किया जाएगा, जो गिरने की स्थिति में हैं। बता दें कि तेज हवा के कारण रेलवे कॉलोनियों में कई पेड़े जड़ से उखड़ गए हैं। इन सभी पेड़ों की शिफ्टिंग रेलवे प्रशासन करेगा। अफसरों के मुताबिक पेड़ लगाने और बचाने को लेकर रायपुर मंडल काफी गंभीरता से काम करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here