छत्तीसगढ़ : वाॅट्सएप पर घायल बेटे की फोटो देखकर अस्पताल पहुंचे, इससे पहले ही हो गई मौत

0
58

अंबिकापुर . कोरिया जिले के पोड़ी क्षेत्र से बाइक में अपने ससुराल जाने के लिए सूरजपुर जिले के बिश्रामपुर थाना अंतर्गत ग्राम केनापारा आ रहे एक युवक रास्ते में करूवा मोड़ के पास घायल हो गया। घटना के बारे में परिजनों को रात में ही करीब 9 बजे उस समय पता चला जब किसी ने युवक की घायल अवस्था की फोटो उसके पिता को वाॅट्सएप पर भेज दी। फोटो में जगह का नाम भी लिखा गया था।

परिजन बेटे को देखने आनन-फानन में निजी वाहन से घटना स्थल से होते हुए अंबिकापुर मेडिकल काॅलेज अस्पताल पहुंचे लेकिन उससे उनकी बात नहीं हो पाई। इससे पहले ही युवक की मौत हो गई थी। एक्सीडेंट कैसे हुआ, इसके बारे में परिजनों को भी पता नहीं है। पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है प्रकरण बिश्रामपुर थाने को भेज दिया है। पुलिस ने बताया कि कोरिया जिले के पोड़ी निवासी 28 वर्षीय रविलाल पिता रामविशाल रविवार की देर शाम को बाइक में अपने ससुराल बिश्रामपुर थाना अंतर्गत ग्राम केनापारा जाने के लिए निकला था।

इसी बीच रात में उसका करूवां के पास एक्सीडेंट हो गया है। किसी ने उसकी फोटो खिंचकर मोबाइल से वाट्सएप पर उसके पिता को इसकी जानकारी दी। फोटो में दुर्घटना स्थल के बारे में जानकारी दी गई थी। पिता परिवार के अन्य सदस्यों के साथ निजी वाहन में घटना स्थल पहुंचा तो पता चला कि रविलाल को अंबिकापुर मेडिकल काॅलेज अस्पताल भेज दिया गया है।

उसकी बाइक घटना स्थल पर ही क्षतिग्रस्त पड़ी हुई थी। परिजन अंबिकापुर मेडिकल कालेज अस्पताल पहुंचे लेकिन इससे पहले ही रामविशाल की मौत हो गई थी जिससे परिजनों से उसकी बात नहीं हो पाई। पिता ने पुलिस को दिए बयान में बताया है कि एक्सीडेंट कैसे हुआ इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। पुलिस आशंका जता रही है कि रात में कोई अज्ञात वाहन टक्कर मारते हुए फरार हो गया होगा।

बस और ट्रक में हुई टक्कर, 10 यात्री हुए घायल :  जशपुरनगर | तेज गति से आ रही ट्रक ने सवारियों से भरी बस को टक्कर मार दी। घटना में बस में सवार 10 से भी अधिक यात्री घायल हो गए। घायल यात्रियों को इलाज के लिए पत्थलगांव के सिविल अस्पताल में लाया गया था, जहां उपचार के बाद यात्रियों को छुट्टी दे दी गई। ओडिशा से अंबिकापुर की ओर जा रही राधेश्याम बस को विपरीत दिशा से आ रहे ट्रक ने लुड़ेग के त्रिकुटीपारा के पास टक्कर मार दी। दुर्घटना करने के बाद ट्रक चालक तत्काल घटना स्थल से फरार हो गया। सुबह 9.30 बजे राधेश्याम बस बागबहार से पत्थलगांव की ओर आ रही थी। इस दौरान जशपुर जा रहे एक 14 चक्का ट्रक ने बस को सामने से टक्कर मार दी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि घटना के समय ट्रक के साथ-साथ बस की गति भी काफी अधिक थी।

जिसके कारण यह घटना   हुई। बस में दो सीटों के बीच फंस गए यात्री. त्रिकुटीपारा में बस अौर ट्रक की भिड़ंत होते ही बस सवार यात्रियों को अचानक से झटका लगा। बताया जाता है कि कुछ यात्री बस की सीटों के बीच में फंसे हुये थे। जिन्हें स्थानीय नागरिकों की मदद से बाहर निकालकर उन्हें पत्थलगांव के सिविल हास्पिटल पहुंचाया गया।  वाहनों की रफ्तार पर लगाम नहीं. तेज गति से  वाहन चलाने वाले चालकों के आवश्यक दस्तावेजों की जांच में ढिलाई बरतने के कारण ये रोजाना दुर्घटना कर लोगो की जान मान का नुकसान कर रहे है। बताया जाता है कि ट्रक के ड्राइवर के पास भी आवश्यक दस्तावेजों की कमी थी। इसके कारण उसने दुर्घटना कर घटना स्थल से भागने मे अपनी भलाई समझी।  घटना के बाद यात्रियों के बीच भी आक्रोश का माहौल बना हुआ था।

ट्रेन में पेटी ठेकेदार की तबीयत बिगड़ी किसी को पता नहीं चला और हो गई मौत : अंबिकापुर| भिलाई से दुर्ग-अंबिकापुर ट्रेन से बैकुंठपुर आ रहे पीएचई के एक पेटी ठेकेदार की रास्ते में ही तबीयत खराब हो गई। वह जनरल बोगी में सवार हुआ था। इसके बारे में किसी को पता नहीं चला और उसकी मौत भी हो गई। वह मृत हालत में अंबिकापुर पहुंच गया। इसके बारे में सुबह उस समय पता चला जब बिलासपुर कंट्रोल से सूचना मिलने पर रेलवे पुलिस दुर्ग-अंबिकापुर ट्रेन के जनरल डिब्बे में पहुंची। नीचे के बर्थ पर भिलाई निवासी 45 वर्षीय विजय बेहरा बेसुध पड़े थे।

जीवित होने की उम्मीद में रेलवे पुलिस ने विजय को मेडिकल काॅलेज अस्पताल पहुंचाया जहां डाॅक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मौत के कारण का पता नहीं चला है। विजय की पहचान काफी समय बाद तब हुई जब उनके मोबाइल पर परिवार के सदस्यों व पहचान के लोगों का फोन आने लगा।

पुलिस ने उनका मोबाइल अपने पास रख लिया था। सभी मोबाइल पर यही पूछ रहे थे कि वह बैकुंठपुर पहुंचे की नहीं। पुलिस ने घटना की जानकारी तो उन्हें भी इसके बारे में पता चला और शाम को परिजन अंबिकापुर पहुंचे। मौत के कारण का पता नहीं चला है। पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है। इस घटना से ट्रेन में बीमार लोगों को रेलवे से मिलने वाली सुविधाओं पर सवाल उठने लगा है। यदि रास्ते में किसी इलाज मिल जाता तो शायद उसकी जान बच जाती।

भर्ती बेटे को देखने जा रही महिला गड्ढे के कारण बाइक से गिरी, ट्रैक्टर ने रौंदा : धमतरी | रीवागहन में सोमवार हुए एक हादसे में महिला की मौत हो गई। महिला अस्पताल में भर्ती बेटे को देखने के लिए दूसरे बेटे के साथ बाइक से जा रही थी। रीवागहन में गड्ढे के कारण वह बाइक से गिर गई। इस दौरान उसका सिर सामने से आ रही ट्रैक्टर के चक्के के नीचे आ गया, जिससे उसकी मौत हो गई। हादसे के बाद गांव वालों ने सड़क पर विरोध प्रदर्शन करते हुए जाम लगा दिया। पुलिस ने मौके पर जाकर समझाइश दी और मामले को शांत कराया।  यह हादसा सुबह 10 बजे का है।

भेंडरा निवासी मोहन नागरची का बड़ा बेटा गुजरा के उप स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती है। उसे देखने के लिए राधिका नागरची (37 साल) अपने छोटे बेटे को लेकर जा रही थी। दोनों बाइक पर थे। रींवागहन के पास गड्ढा सामने आने पर राधिका नागरची उछलकर सड़क पर गिर गईं। सामने से आ रहा ट्रैक्टर का चक्का उनके सिर पर चढ़ गया। सिर फटने से राधिका नागरची की मौके पर ही मौत हो गई। घटना बीच बस्ती में होने के कारण ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठी हो गई। सड़क पर चक्काजाम की स्थिति बन गई। घटना की सूचना पर भखारा पुलिस की टीम मौके पर गई। लोगों को शांत कराया। लाश का पंचनामा करने के बाद पोस्टमार्टम के लिए कुरुद अस्पताल भेजा। पुलिस ने ट्रैक्टर को जब्त कर चालक के खिलाफ अपराध दर्ज किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here