Thursday, September 23, 2021
Homeछत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ : पीछा छुड़ाने कथित प्रेमिका ने मां के साथ मिलकर प्रेमी...

छत्तीसगढ़ : पीछा छुड़ाने कथित प्रेमिका ने मां के साथ मिलकर प्रेमी का सिर पत्थर से सिर कुचल दिया

बिलासपुर.  प्रेमी से पीछा छुड़ाने नाबालिग प्रेमिका ने मां के साथ मिलकर उसे मार डाला। बातचीत करने का झांसा देकर पहले दोनों योजना के मुताबिक प्रेमी को खंडहर में ले गईं और छत पर उसका पत्थर से सिर कुचल दिया। घटना 20 दिन पहले की है। इस बीच युवक की मां गायब बेटे की खोजबीन करने थाने का चक्कर काटती रही। यहां किसी तरह से मदद नहीं मिली तो आईजी के पास गई और फिर इस केस की जांच शुरू हुई। युवक को आधे शव को चील-कौवों ने नोच खाया था।

19 जून को पेशी में आया था युवक, बात करने के बहाने किशोरी ऑटो में बिठाकर ले गई उसलापुर

  1. जरहाभाठा मंझवापारा निवासी दिनेश श्रीवास पिता रविशंकर 21 वर्ष पहले तिफरा मन्नाडोल में ही रहता था। यहां उसका 17वर्षीय किशोरी से प्रेम संबंध हो गया। दोनों अलग जाति के थे। इसलिए इस रिश्ते के लिए किशोरी के घरवाले तैयार नहीं थे। इस बीच युवक व किशोरी दोनों साथ-साथ रहने लगे। कुछ दिन बाद किशोरी उससे अलग हो गई और परिजनों के साथ थाने आकर मारपीट करने का आरोप लगाकर सिविल लाइन थाने में एफआईआर भी दर्ज करा दिया।
  2. पुलिस ने दिनेश को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। 19 जून को दिनेश की कोर्ट में पेशी थी। किशोरी ने उसे सुबह फोन किया। दोनों कोर्ट के पास मिले फिर दिनेश गायब हो गया। दिनेश वापस घर नहीं पहुंचा तो घरवालों को चिंता हुई। उसकी मां नूतन रिश्तेदारों में तलाश की। वह कहीं नहीं मिला। 27 जून को वह सिविल लाइन थाने आई। पुलिस ने उसे दिनभर बिठाकर रखा। यह सिलसिला लगातार चलता रहा। 4 जुलाई को नूतन ने आईजी के पास जाकर घटना की जानकारी दी।
  3. आईजी ने तब सिविल लाइन टीआई को फोन लगाकर फटकार लगाई तब पुलिस सक्रिय हुई और खोजबीन शुरू की और हत्या का खुलासा हुआ। किशोरी ने अपने मां ललिता के साथ मिलकर दिनेश की हत्या कर दी थी। दिनेश की हत्या करने के बाद किशोरी की मां दूसरे दिन सिविल लाइन थाने गई और दिनेश पर अपनी बेटी को भगाकर ले जाने की रिपोर्ट दर्ज करा दी। पुलिस ने बिना जांच किए ही इस मामले में केस दर्ज कर लिया इसके बाद भी तलाश शुरू नहीं की।
  4. मां को बुलाई और दोनों ने मिलकर दिया वारदात को अंजाम

    दिनेश जेल गया तो किशोरी का एक अन्य युवक के साथ संबंध स्थापित हो गया था। दिनेश से वह पल्ला झाड़ना चाहती थी। इसलिए वह ठिकाना लगाने की योजना बनाई। 19 को दिनेश की पेशी थी। कोर्ट गया तो वह दिनेश से मिली और बातचीत करने के बहाने उसे अपने साथ बातचीत करने का झांसा देकर ऑटो में बिठाकर ले गई। वह उसलापुर फाटक के गोकने नाला के पास गाड़ी रुकवाई। दोनों उतरे। किशोरी के बयान के अनुसार दिनेश उसस शादी करने का जिद कर रहा था पर किशोरी के मन में तब कोई और बस गया था।

  5. षड्यंत्र के मुताबिक किशोरी फोन कर मां चमेली बाई को बुलाई। तीनों पास के खंडहर में गए। छत पर काफी देर तक बातचीत करते रहे। किशोरी के अनुसार इस बीच दिनेश को झपकी आ गई। मौका अच्छा था। किशोरी की पत्थर लेकर आई और फिर दोनों उसपर हमला कर दिया। दिनेश कीह मौत हो गई फिर मां बेटी फरार हो गए। दिनेश का शव 20 दिनों तक छत पर पड़ा रहा। चील कौवे खाते रहे। जिस पत्थर से उन्होंने हमला किया था उसे पास ही पानी में फेंक दिया था। पुलिस ने दिनेश की प्रेमिका व उसकी मां चमेली बाई को गिरफ्तार कर लिया है।
  6. किशोरी के घर पर होने की जानकारी युवक की मां ने दी

    दिनेश की मां नूतन ने बताया कि वह बेटे के गायब होने के बाद अपने स्तर पर तलाश में जुटी हुई थी। वह भी समझ रही थी कि किशोरी के साथ वह गायब है। वह किशोरी के घर गई तो वह मिल गई। उसने दिनेश का मोबाइल भी रखी हुआ था। इसके बाद उसे संदेह हुआ और पुलिस को आकर सूचना दी। तब पुलिस ने किशोरी को पकड़कर पूछताछ की। सख्ती करने पर टूट गई और हत्या की पूरी कहानी बताई।

  7.  किशोरी की जीजा भी संदेह में दायरे में

    दिनेश को बुरी तरह से मारा गया था। वारदात में अन्य लोगों के भी शामिल होने का अंदेशा है। पुलिस का कहना है हत्या के वक्त दिनेश सो रहा था। सवाल उठता खंडहर में बात करने गया आदमी भला सोएगा क्यों। वारदात रात 12 बजे का है तो सुबह 11 बजे से 13 घंटे में उन्हें खंडहर में कोई देखा क्यों नहीं? वहीं किशोरी की जीजा की भूमिका भी संदिग्ध है। वह अपनी सास चमेली बाई को वही छोड़ने घटनास्थल तक गया था। पुलिस ने उससे पूछताछ नहीं की है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments