Friday, September 24, 2021
Homeझारखण्डझारखंड : मुख्यमंत्री ने श्रावणी मेले का किया उद्घाटन, सावन के पहले...

झारखंड : मुख्यमंत्री ने श्रावणी मेले का किया उद्घाटन, सावन के पहले दिन उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

देवघर. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बिहार-झारखंड की सीमा पर स्थित दुम्मा प्रवेश द्वार पर बुधवार को राजकीय श्रावणी मेले का विधिवत उद्घाटन किया। इससे पूर्व उन्होंने बाबा वैद्यनाथ धाम में पूजा-अर्चना भी की। वहीं, सावन के पहला दिन होने से सभी शिवालयों में भक्तों की खासी भीड़ देखी गई। इधर, बाबा वैद्यनाथ धाम में भगवान भोले नाथ के जलाभिषेक के लिए रात से ही कावरियों की कतार लगी रही।

ग्रहण के चलते सुबह पांच बजे खुला बाबा का पट
कांवरियों के स्वागत के लिए पूरे शहर को सजाया गया है। हर तरफ रंग-बिरंगी राेशनी बाबा नगरी खूबसूरती में चार चांद लगा रहा है। कांवरिया पथ से लेकर शिवगंगा के चारों ओर गेरूआ रंग से रंगाया गया है जाे कांवरियों को अपनी ओर आकर्षित कर रही है। श्रावणी मेले के पहले दिन बाबा का पट ग्रहण के कारण सुबह पांच बजे खोला गया। इसके बाद कांचाजल व सरकारी पूजा के बाद आम भक्तों का जलार्पण आरंभ कराया गया। श्रावणी मेला के पहले दिन शाम तक 50 हजार से अधिक कांवरियों के आने का अनुमान लगाया जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा भीड़ से निपटने के लिए पूरी तैयारी की जा चुकी है।


कावरियों के लिए तमाम तरह की सुविधाएं

कांवरियाें को मखमली एहसास देने के लिए कांवरिया पथ को रेत से भर दिया है। इसके अलावा कावरियों के बैठने के लिए बेंच, शौचालय, स्नानागार, स्वास्थ्य सेवाओं सहित अन्य सुविधाएं कदम-कदम पर मुहैया कराई गई है। दुम्मा में प्रवेश करते ही कांवरियों को हर तरह की सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगी। कोठिया में वाहनों का पड़ाव स्थल बनाया गया जहां सुल्तानगंज की ओर से आनेवाली सभी छोटी बड़ी गाड़ियाें की पार्किंग करायी जाएगी। कोठिया में इसके लिए विशाल मैदान तैयार किया गया। कोठिया में दो टेंट सिटी बनायी गयी जहां कांवरिये निःशुल्क आराम कर सकेंगें। जिला प्रशासन व राज्य सरकार के द्वारा कांवरियों को हर संभव सुविधा देने की कोशिश की गयी है।

स्पर्श पूजा का अंतिम दिन, पूर्णिमा पर लगी कांवरियों की भीड़
मंगलवार सुबह से गुरु पूर्णिमा को लेकर कांवरियों को भीड़ लगनी शुरू हो गयी थी। सभी कांवरियों को जलसार चिल्ड्रन पार्क से रूट लाइन के द्वारा कतारबद्ध कर जलार्पण कराया गया। मंगलवार को स्पर्श पूजा का अंतिम होने के कारण भारी संख्या में कांवरियों की भीड़ जुटी। बुधवार सुबह से पूरे एक माह तक स्पर्श पूजा बंद रहेगी। इसके बाद सभी को अरघा में ही जलार्पण करना होगा। मेले को लेकर सभी पुलिसकर्मी अपनी-अपनी जगह पर ड्यूटी पर तैनात हैं।

बाबा फौजदारीनाथ का दरबार सजधज कर तैयार, 350 सीसीटीवी लगे

बासुकीनाथ पैदल आने वाले कांवरियों को ध्यान में रखते हुए चलंत स्वास्थ्य सेवा और एम्बुलेंस की व्यवस्था की गई है। श्रद्धालुओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए निबटने के लिए भारी संख्या में फोर्स की तैनाती की गई है। सादे लिबास में भी महिला और पुरूष फोर्स की तैनाती की गई है। मेले पर नजर बनाए जाने के लिए 350 सीसीटीवी लगाए गये हैं। इसके अलावे ड्रोन कैमरे से भी नजर रखी जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments