Friday, September 24, 2021
Homeविश्वमहामारी का हवाला दे एवरेस्ट पर सीमा रेखा बनानेे की तैयारी में...

महामारी का हवाला दे एवरेस्ट पर सीमा रेखा बनानेे की तैयारी में चीन, 2019 में वुहान से शुरू हुआ था संक्रमण

दुनिया की सबसे ऊंची चोटी पर आने वाले पर्वतारोहियों में 30 से अधिक कोविड संक्रमितों के बाद महामारी के खतरे को अपनी ओर न आने देने को लेकर चीन ने अहम फैसला लिया है। दरअसल एवरेस्ट पर बीजिंग ने अपनी ओर ‘सीमा रेखा’ बनाने का प्लान बनाया है क्योंकि चीन चाहता है कि उसके क्षेत्र में संक्रमण न आ सके। वर्ष 2019 के अंत में चीन के ही वुहान से घातक कोरोना वायरस की शुरुआत हुई और तीन महीनों के भीतर ही इसने महामारी का रूप ले लिया। माउंट एवरेस्ट चीन-नेपाल सीमा को घेरता है, जिसमें उत्तरी ढलान चीन की ओर है।

चीन ने यह फैसला लिया है कि दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर सीमा रेखा बनाई जाए ताकि उसकी ओर कोरोना संक्रमण का मामला न आ सके। चीनी मीडिया के अनुसार नेपाल के संक्रमित पर्वतारोहियों के जरिए संक्रमण फैलने से बचाव हो सके।

नेपाली बेस कैंप से निकाले गए  संक्रमित पर्वतारोही 

उल्लेखनीय है कि अप्रैल के आखिरी सप्ताह में एवरेस्ट की चोटी पर कोविड संक्रमण का पहला मामला आया था। इसके बाद कई संक्रमितों की सूचना मिली। 30 से अधिक संक्रमित पर्वतारोहियों को हाल के सप्ताहों में नेपाल की दुनिया की सबसे ऊंची चोटी पर स्थित बेस कैंप से निकाला गया। नेपाल कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहा है।

तिब्बती अधिकारियों के अनुसार उत्तर और दक्षिण ढलानों पर या शीर्ष पर पर्वतारोहियों के बीच संपर्क से बचने के लिए ‘रोकथाम के उपाय’ करेंगे। तिब्बत पर्वतारोहण संघ के प्रमुख के हवाले से सिन्हुआ न्यूज ने बताया कि माउंटेन गाइड पर्वतारोहियों को चढ़ाई शुरू करने की अनुमति देने से पहले पर्वत के शिखर पर सीमा रेखा बनाएंगे। अधिकारी ने इस बारे में अधिक जानकारी नहीं दी। कोरोना संक्रमण के कारण चीन ने पिछले साल से ही विदेशी नागरिकों के पर्वतारोहण पर रोक लगा दी थी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments