Tuesday, September 28, 2021
Homeबिहारफिर होगी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग:कोरोना का खतरा टला नहीं, इसलिए संक्रमित लोग कहां-कहां...

फिर होगी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग:कोरोना का खतरा टला नहीं, इसलिए संक्रमित लोग कहां-कहां गए और किनसे मिले, खंगाला जाएगा नेटवर्क

पटना में कोविड जांच कराने के इंतजार में लगी लंबी भीड़।
  • चुनाव के दौरान बंद हो गई थी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, पटना में तैयार की गई टीम

कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा भले ही कम हो रहा हो लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। सरकार भी इस खतरे को भांप रही है। इसलिए चुनाव के दौरान ठंडी पड़ी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग को फिर से शुरू करने जा रही है। युद्ध स्तर पर ट्रेसिंग की तैयारी चल रही है ताकि कोरोना मरीजों के चेन को ब्रेक किया जा सके। संक्रमित लोग कहां-कहां गए और किनसे मिले, इसकी पूछताछ और जांच के पूरे नेटवर्क को खंगालने की कवायद हो रही है। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत के निर्देश के बाद टीम इस काम में जुट गई है। पटना के डीएम कुमार रवि ने भी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग का आदेश दिया है।

कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग से दी गई थी कोरोना को मात
बिहार में जब कोरोना चरम पर था तो सरकार ने दिल्ली का मॉडल अपनाते हुए कांटेक्ट ट्रेसिंग पर जोर दिया था। इसके लिए पूरे प्रदेश में दो तरह से टीम बनाई गई थी। एक टीम स्वास्थ्य विभाग की तरफ से काम कर रही थी और दूसरी डीएम के निर्देशन में कांटेक्ट ट्रेसिंग कर रही थी। दोनों टीमों से मिलने वाली रिपोर्ट के आधार पर फिर संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की निगरानी की जाती थी।

बंद होने से बढ़ने लगे थे केस
चुनाव के दौरान कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग का काम ठंडा पड़ गया था। कोरोना काल में चुनाव के कारण स्वास्थ्य विभाग की टीम मतदाताओं को संक्रमण से बचाने की योजना पर काम करने लगी। इस दौरान कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग नहीं हो पाई। ऐसे में मामले बढ़ने लगे। चुनाव और छठ में संक्रमण का ग्राफ बढ़ गया। अब संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए फिर इस दिशा में काम किया जा रहा है।

बिहार में हर जिले में होगी कोरोना संक्रमितों की कांटेक्ट ट्रेसिंग
कोविड संक्रमण से बचाव को लेकर सरकार की गंभीरता के बाद अब प्रदेश के सभी जिलों में कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग का आदेश दिया गया है। पटना के डीएम कुमार रवि ने भी इसे लेकर योजना तैयार की है। सिविल सर्जन , जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारियों को आदेश दिया गया है कि इस दिशा में काम किया जाए जिससे संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। कांटेक्ट ट्रेसिंग में तेजी लाने के लिए संक्रमितों के संपर्क में आने वाले लोगों का कोविड जांच कराने का आदेश दिया गया है।

घर पर विजिट करेगी टीम
कोरोना के ऐसे मरीज जो होम आइसोलेशन में हैं उनके घर अब स्वास्थ्य विभाग की टीम विजिट करेगी और कॉन्टेक्ट में आए लोगों की पूरी जानकारी लेगी। टीम विजिट करने के दौरान दवा देने एवं उनका हालचाल जानने तथा फॉलोअप करने का भी काम करेगी। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम गठित करने का आदेश डीएम ने दिया है।

बढ़ाई जाएगी कोरोना की जांच
कंटेनमेंट जोन में कोविड जांच कराने का आदेश दिया गया है। RTPCR जांच अधिक से अधिक लोगों को करने का निर्देश दिया गया है। अब पटना में हर दिन 1,000 जांच कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। सरकारी और निजी अस्पतालों में काम करने वाले डाक्टर और अन्य स्टाफ(हेल्थ केयर वर्कर ) से सामंजस्य बनाने को कहा गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments