Tuesday, September 21, 2021
Homeचंडीगढ़शिक्षा के लिए जारी संघर्ष:निजी स्कूल की लूट और इसपर शिक्षा विभाग...

शिक्षा के लिए जारी संघर्ष:निजी स्कूल की लूट और इसपर शिक्षा विभाग की अनदेखी पर पेरेंट्स यूनिटी फॉर जस्टिस डीईओ दफ्तर सेक्टर 19 के बाहर किया ज़ोरदार रोष प्रदर्शन

आज के इस धरने पर पेरेंट्स यूनिटी फार जस्टिस के मनीष सोनी व सहयोग देने के लिए मोहाली पेरेंट्स एसोसिएशन के ह्दयपाल सिंह भी पहुंचे हुए थे ।
  • अपने बच्चों सहित इकट्ठा हुए पेरेंट्स का कहना था कि वह लॉकडाउन के समय से ही निजी स्कूलों द्वारा की जा रही मनमानी से तंग हैं

बुधवार को पेरेंट्स यूनिटी फॉर जस्टिस के अंतर्गत स्कूली बच्चों के पेरेंट्स ने निजी स्कूलों की लूट और चंडीगढ़ के शिक्षा विभाग की ओर से इस लूट पर अनदेखी के खिलाफ डीईओ दफ्तर, सेक्टर 19 के बाहर ज़ोरदार रोष प्रदर्शन किया। अपने बच्चों सहित इकट्ठा हुए पेरेंट्स का कहना था कि वह लॉकडाउन के समय से ही निजी स्कूलों द्वारा की जा रही मनमानी, नाजायज़ फीस वसूली, बच्चों को फीस के लिए तंग करने, उन्हें ऑनलाइन ग्रुप से निकालने आदि मुद्दों पर कई शिकायतें शिक्षा विभाग को भेज चुके हैं।

लेकिन अभी तक निजी स्कूल माफिया पर विभाग की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई। जब भी पेरेंट्स यूनिटी फॉर जस्टिस के प्रतिनिधि पेरेंट्स की इन शिकायतों को लेकर शिक्षा विभाग या अन्य अधिकारियों के पास जाते हैं तो उन्हें अधिकारियों द्वारा अपना पल्ला झाड़ते हुए एक से दूसरे फिर तीसरे अफसर को मिलने के लिए चक्कर लगवाया जाता है। इसलिए आज वह मजबूर हो कर शिक्षा विभाग के दफ्तर पर सीधे बातचीत व जवाबदेही के लिए आए हैं ।

प्रदर्शन में पहुंचे सोशल वर्कर सतनाम सिंह दाऊं ने बताया कि वह पिछले कई साल से प्राइवेट स्कूलों की बेनियमियों के खिलाफ लड़ाई लड़ते आ रहे हैंं। लेकिन इस कोरोना लॉकडाउन में स्कूलों ने जितनी लूट मचाई है उतनी उन्होंने कभी नहीं देखी। पेरेंट्स की कमाई पर लॉकडाउन के नुकसान के बावजूद स्कूलों द्वारा फीस में कोई रियायत नहीं दी गई और अब तो अगले सैशन के लिए स्कूलों की फीस 8 से 16 फीसदी बढ़ाने की मंजूरी भी स्कूलों ने चंडीगढ़ प्रशासन से ले ली है।

जबकि स्कूलों का खर्चा अभी ना मात्र का हो रहा है। बहुत सारे टीचर्स व अन्य स्टाफ को भी निजी स्कूलों ने निकाल दिया है लेकिन तब भी पेरेंट्स से पूरी, बल्कि अब बढ़ी हुई फीस वसूलने के हर हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। ऊपर से किसी भी निजी स्कूल ने आज तक अपनी बैलेंस शीट नहीं दिखाई है जिस से साबित होता है कि इन स्कूल माफिया को लॉकडाउन में भी कोई नुकसान नहीं हुआ। इसलिए हम आज धरने पर उतरने के लिए मजबूर हुए हैं।

धरने में पहुंची सौपिंस स्कूल की अशिता ने कहा कि स्कूल उनके बच्चों को बार-बार ऑनलाइन क्लास से हटाने के लिए मजबूर कर रहा है। वहीं शिशु निकेतन सेक्टर 43 के मुनीश ने कहा कि उनका स्कूल पीटीएम के नाम पर स्कूल बुलाकर फीस के लिए दबाव बना रहा है।आज के इस धरने पर पेरेंट्स यूनिटी फार जस्टिस के मनीष सोनी व सहयोग देने के लिए मोहाली पेरेंट्स एसोसिएशन के ह्दयपाल सिंह भी पहुंचे हुए थे ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments