Monday, September 27, 2021
Homeउत्तर-प्रदेशउत्तरप्रदेश : अयोध्या में भगवान राम की 251 मीटर ऊंची प्रतिमा पर...

उत्तरप्रदेश : अयोध्या में भगवान राम की 251 मीटर ऊंची प्रतिमा पर स्थापना से पहले ही विवाद, विरोध में 85 लोग

अयोध्या. एक ओर जहां सुप्रीम कोर्ट राम जन्मभूमि विवाद को लेकर रोजाना सुनवाई कर रहा है, वहीं अयोध्या में एक नया विवाद खड़ा हो गया है। विवाद योगी सरकार के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट से जुड़ा है। 251 मीटर ऊंची भगवान राम की मूर्ति से जुड़े प्रोजेक्ट के लिए जमीन अधिग्रहण विरोध के साए में चल रहा है।

दरअसल, अधिग्रहण के दायरे में सरयू तट के मीरपुर इलाके व हाईवे पुल के बीच की जमीन पर बने पांच मंदिर, 22 खातेदार, 517 पेड़ और 165 लोगों के मकान आ गए हैं। इनमें से करीब 85 प्रभावित इस अधिग्रहण का विरोध कर रहे हैं। इस विरोध के कारण पूर्व निर्धारित समय सीमा में काम पूरा होना मुश्किल दिख रहा है। वहीं राज्य सरकार जल्द से जल्द इस प्रोजेक्ट को पूरा करना चाहती है।

सरयू नगर कॉलोनी माझामीरपुर के अध्यक्ष देवेशाचार्य कहते हैं-हमारी कॉलोनी को इस अधिग्रहण से मुक्त रखा जाना चाहिए। और अगर अधिग्रहण करना भी है तो हाइवे के सर्किल रेट से चार गुना ज्यादा मुआवजा दिया जाना चाहिए। इतना ही नहीं, हमारा पुनर्वास भी प्रतिमा स्थल से एक किमी सीमा के दायरे में ही होना चाहिए। बहरहाल, मामला हाईकोर्ट तक पहुंच चुका है।

योगी सरकार के लिए यह प्राेजेक्ट कितना खास है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 3 अगस्त को मुख्यमंत्री ने यहां का दौरा किया था। कई बड़ी योजनाओं के लिए यहां 26 अक्टूबर तक होने वाले दीपोत्सव पर्व तक की डेडलाइन तय कर रखी है। मुख्यमंत्री योगी लगातार योजना का अपडेट ले रहे हैं।

विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा अयोध्या में होगी

  • श्रीराम की प्रतिमा 251 मीटर
  • सरदार पटेल की प्रतिमा 183 मीटर
  • गौतम बुद्ध (चीन) 128 मीटर
  • स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी 93 मीटर

कई मायनों में खास होगी यह प्रतिमा
प्रोजेक्ट के तहत सरयू किनारे सौ एकड़ में कायाकल्प कराया जाएगा। 251 मीटर ऊंची इस प्रतिमा में 20 मीटर ऊंचा चक्र भी होगा। मूर्ति 50 मीटर ऊंचे बेस पर खड़ी होगी। बेस के नीचे ही भव्य म्यूजियम बनाया जाएगा जहां टेक्नोलॉजी के जरिये भगवान विष्णु के सभी अवतारों को दिखाया जाएगा। यहां डिजिटल म्यूजियम, फूड प्लाजा, लैंड स्केपिंग, लाईब्रेरी, रामायण काल की गैलरी आदि प्रस्तावित है।

दो बार जारी हो चुका है नोटिफिकेशन
पर्यटन विभाग ने इस प्रोजेक्ट के लिए जमीन खरीदने के लिए 7 जून को गजट नोटिफिकेशन जारी किया। हालांकि, तकनीकी खामियों के चलते इसे रद्द कर दिया गया। इसके बाद अयोध्या के डीएम एके झा ने 27 जून को दोबारा नोटिफिकेशन जारी किया। इस नोटिफिकेशन के तहत 41 हेक्टेयर जमीन में से 24 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण होना था। अभी तक जमीन की खरीद और प्रतिमा स्थल के चयन का काम चल रहा है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments