Sunday, September 26, 2021
Homeकोरोना अपडेटराजस्थान में 10 दिन में कोरोना के केस तिगुना हुए : जोधपुर...

राजस्थान में 10 दिन में कोरोना के केस तिगुना हुए : जोधपुर में 5-7 किमी शव ले जाने के बदले एंबुलेंस वाले वसूल रहे 11-11 हजार रुपए

राजस्थान में बेकाबू कोरोना ने पूरे सिस्टम को हिलाकर रख दिया है। ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन का स्टॉक खत्म है। इस बीच, दवा से लेकर ऑक्सीजन तक की कालाबाजारी ने पीड़ितों के दर्द और बढ़ा दिया है। प्रदेश के हर बड़े शहर में रोज इस तरह की कालाबाजारी करने वाले पकड़े जा रहे हैं। इस खेल में अस्पताल के कर्मचारियों की मिलीभगत भी सामने आ रही है।

जोधपुर में 5-7 किलोमीटर तक कोविड पॉजिटिव की डेड बॉडी ले जाने के लिए 11-11 हजार रुपए तक वसूले जा रहे हैं। स्ट्रेचर पर मरीज दम तोड़ रहे हैं। डॉक्टर हाथ जोड़कर कह रहे हैं, ‘हम बेबस हैं’। शुक्रवार काे प्रदेश में सारे रिकॉर्ड को तोड़ते हुए कोरोना के 15,398 नए केस आए। 64 मौतें दर्ज हुईं। इनमें जयपुर में 13, कोटा में 11, उदयपुर में 10, जोधपुर में 36 और बीकानेर में 5 लोगों ने जान गंवाई। सरकार ने भी नियम थोड़े सख्त करने का ऐलान किया है, लेकिन संक्रमण काबू नहीं हो रहा है।

जयपुर में ही प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल SMS में अब ऑक्सीजन की किल्लत शुरू हो गई है। यहां कोविड के अलावा अन्य मरीज भी ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। इधर, शास्त्री नगर स्थित एक निजी अस्पताल में बीती रात ऑक्सीजन नहीं होने पर हाहाकार मच गया। हालांकि, प्रशासन ने सुबह करीब 4 बजे 20 सिलेंडर ऑक्सीजन उपलब्ध कराई तब लोगों ने राहत की सांस ली।

जयपुर के निजी और सरकारी अस्पतालों में रोजाना करीब 7-8 हजार ऑक्सीजन सिलेंडरों की खपत हो रही है। राहत की खबर ये है कि जयपुर के 73 कोविड अस्पतालों में 6,087 बेड में से 1,970 खाली पड़े हैं। इनमें से करीब 650 ऑक्सीजन सपोर्ट वाले, 100 वेंटिलेटर वाले और 160 ICU बेड हैं।

10 दिन में राजस्थान में आए एक लाख से ज्यादा संक्रमित

दिनांकसंक्रमित मिलेमौतरिकवर
14 अप्रैल6200291956
15 अप्रैल6658332254
16 अप्रैल7359312791
17 अप्रैल9046372823
18 अप्रैल10,262423084
19 अप्रैल11,967532408
20 अप्रैल12,201643207
21 अप्रैल14,622623765
22 अप्रैल14,468593618
23 अप्रैल15,398645197

कलेक्टर सहित 3 सदस्यों की कमेटी करेगी इंजेक्शन का डिस्ट्रीब्यूशन

सरकार ने अब फिर से एक नया आदेश जारी करते हुए रेमडेसिविर इंजेक्शन के आवंटन के लिए हर जिले में कलेक्टर की अध्यक्षता में तीन सदस्यों की कमेटी बनाई है। इसमें संबंधित जिले के मेडिकल कॉलेज का प्रिंसिपल, जिला CMHRO सहित एक अन्य अधिकारी मौजूद रहेगा। यही टीम जिले में निजी अस्पतालों में डिमांड के हिसाब से इंजेक्शन सप्लाई किए जाएंगे।

बाजारों में दलालों के अलावा अब अस्पतालों में भी रेमडेसिविर के इंजेक्शन ब्लैक में बेचने के मामले सामने आए हैं। जयपुर में शुक्रवार को ड्रग कंट्रोलिंग टीम ने 2 निजी अस्पतालों में कुछ लोगों को दोगुना दाम तक इंजेक्शन बेचते हुए पकड़ा।

राजस्थान में हर छठा सैंपल पॉजिटिव

राजस्थान में कोरोना के केस हर दिन नए रिकॉर्ड बना रहा है। राज्य में कल 24 घंटे में 15,398 पॉजिटिव मिले हैं, जबकि 64 लोगों की जान गई है। स्थिति कितनी भयानक होती जा रही है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 10 दिन के अंदर राज्य में कोरोना केस की संख्या 3 गुना तक बढ़ गई। राजस्थान में शनिवार को 86,039 सैंपल की जांच की गई, जिसमें हर छठा सैंपल पॉजिटिव निकला है।

राज्य में कोरोना की संक्रमण दर 17.89% दर्ज हुई। राहत की बात ये है कि रिकवर मरीजों की संख्या में थोड़ा इजाफा हुआ है। शुक्रवार को पूरे प्रदेश में 5,197 लोग ठीक हुए। वहीं, एक्टिव केस की संख्या बढ़कर एक लाख 17 हजार 294 पर पहुंच गई।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments