Friday, September 17, 2021
Homeकोरोना अपडेटछत्तीसगढ़ में कोरोना : राज्य में सवा लाख एक्टिव केस; एक दिन...

छत्तीसगढ़ में कोरोना : राज्य में सवा लाख एक्टिव केस; एक दिन में तीसरी सबसे अधिक मौतें भी

छत्तीसगढ़ में कोरोना का कोहराम जारी है। गुरुवार रात तक प्रदेश में 55 हजार कोरोना टेस्ट हुए थे। वहीं 16750 नए मामले सामने आए। 15051 मरीजों को इलाज के बाद ठीक घोषित किया गया। इसके बावजूद प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या 1,21,555 रह गई है। देश के चार ही राज्य ऐसे हैं जिनके यहां सक्रिय मरीजों की संख्या छत्तीसगढ़ से अधिक है। इस मामले में महाराष्ट्र पहले नंबर पर है। वहां 6,99,858 एक्टिव केस हैं। दूसरे स्थान पर उत्तर प्रदेश है जहां एक्टिव केस की संख्या 2,59,810 है। कर्नाटक तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। यहां अभी 1,96,236 केस एक्टिव हैं। वहीं 1,56,224 एक्टिव केसेस के साथ केरल चौथे स्थान पर है। छत्तीसगढ़ देश का तीसरा प्रदेश है जहां एक दिन में सर्वाधिक मौतें दर्ज हुई हैं।

एक दिन में 197 लोगों की मौतें हुईं

छत्तीसगढ़ में गुरुवार रात 197 मरीजों की मौतों के आंकड़े आए। इनमें से 120 मरीजों में दूसरी किसी गंभीर बीमारी नहीं थी। यानी उनकी मौत केवल कोरोना की वजह से हुई। दूसरे राज्यों से तुलना करें तो महाराष्ट्र में सबसे अधिक 568 मौतें दर्ज हुईं। उसके बाद दिल्ली में 306 मौतें हुईं हैं। छत्तीसगढ़ से अधिक बीमारों के बावजूद उत्तर प्रदेश में 195, कर्नाटक में 123 और केरल में केवल 28 लोगों की जान गई है।

छत्तीसगढ़ में हर रोज औसतन 112 मौतें

छत्तीसगढ़ में कोरोना का पहला मामला 18 मार्च 2020 को सामने आया था। कोरोना से पहली मौत 29 मई 2020 को दर्ज हुई। तब से 31 मार्च 2021 के बीच 4131 मौतें हुई हैं। जबकि दूसरी लहर में केवल अप्रैल के इन 21 दिनों में 2263 से ज्यादा मौत हो चुकी है। प्रदेश में कोरोना से रोज औसतन 112 लोगों की मौत हो रही है।

रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी रोकने का जिम्मा IAS को

छत्तीसगढ़ में सरकार ने सहकारिता विभाग के विशेष सचिव हिमशिखर गुप्ता को केवल रेमडेसिविर इंजेक्शन की व्यवस्था देखने के लिये नोडल अधिकारी बनाया है। 2007 बैच के IASअधिकारी हिमांशु गुप्ता को रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति और राज्य के भीतर वितरण के लिए स्वास्थ्य विभाग और जिला कलेक्टरों के साथ समन्वय बनाना है। उनको मुंबई और हैदराबाद में तैनात अफसरों, भास्कर विलास संदीपन और अरुण प्रसाद से भी समन्वय बनाकर जरूरत के मुताबिक आपूर्ति बनाए रखने की कोशिश करनी है।

संदिग्ध मरीजों के लिए इलाज का नया प्रोटोकॉल जारी

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना के संदिग्ध मरीजों के लिए इलाज का नया प्रोटोकॉल जारी किया है। जांच के लिए नमूना देने के बाद और रिपोर्ट आने से पहले लक्षण वाले संदिग्ध मरीजों को पांच दवाएं लेने की सलाह दी जा रही है। इसमें आइवरमेकटिन, डाक्सीसाइक्लिन, पैरासिटामॉल, विटामिन-सी और जिंक की गोलियां शामिल हैं।

निजी अस्पतालों को चेतावनी

रायपुर की CMHO डॉक्टर मीरा बघेल ने निजी अस्पताल संचालकों को रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर चेतावनी दी है। उन्होंने उन शिकायतों का उल्लेख किया है जिसमें निजी अस्पतालों के डॉक्टर रेमडेसिविर इंजेक्शन को पर्ची पर लिखकर बाहर से मंगाने भेज रहे हैं। जबकि दवा अस्पतालों को ही भेजी जा रही है। उन्होंने कहा है कि अगर अस्पताल की शिकायत मिली तो उनकी मान्यता निरस्त कर दी जाएगी।

आज मुख्यमंत्री की जिला पंचायतों के साथ बैठक

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज जिला पंचायत के अध्यक्षों और मुख्य कार्यपालन अधिकारियाें के साथ वर्चुअल बैठक करने वाले हैं। इसमें कोरोना प्रबंधन और इलाज की सुविधाओं की समीक्षा होगी। इस दौरान प्रवासी मजदूरों के गांव लौटने की स्थिति में उनको क्वारैंटाइन करने की व्यवस्था का भी जायजा लिया जाएगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने सभी गांवों में ऐसे केंद्र बनाने का निर्देश दिया था।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments