कोरोना से ये कैसी जंग – अंधविश्वास के चक्कर में उड़ी सोशल डिस्टेंस की धज्जियां, महिलाओं ने मैदान में की पूजा

0
31
खाली मैदान में सोशल डिस्टेंस का पालन किए बगैर पूजा करतीं महिलाएं।
  • महिलाओं ने बताया कि मोबाइल पर देखा कि कोरोना माई की पूजा करने से कोरोना बीमारी खत्म हो जाएगी
  • ऑटो चालकों ने कम सवारी बिठाने की बात कह किराया बढ़ाया और मनमानी शुरू कर दी
खाली मैदान में सोशल डिस्टेंस का पालन किए बगैर पूजा करतीं महिलाएं।

सीएन 24

धनबाद. कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टेंस को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। दूसरी ओर धनबाद के कई क्षेत्रों में शुक्रवार को इसकी जमकर धज्जियां उड़ाई गई। कोरोना से बचने के लिए सोशल मीडिया पर फैली एक अफवाह को लेकर महिलाओं ने मैदान में पूजा की। महिलाओं ने बताया कि मोबाइल पर देखा कि कोरोना माई की पूजा की जा रही है। इससे कोरोना बीमारी खत्म हो जाएगी। इस अंधविश्वास के चक्कर में पड़कर रानी रोड और हाउसिंग कॉलोनी में बड़ी संख्या में महिलाओं ने पूजा की। इस दौरान उन्होंने सोशल डिस्टेंस का बिल्कुल भी पालन नहीं किया।

इधर, जिला प्रशासन ने नियम बनाया है कि कोई भी ऑटो व ई-रिक्शा चालक दो से अधिक सवारी नहीं बिठाएंगे। ऑटो चालकों को इससे आर्थिक नुकसान न हो, इसके लिए भाड़ा भी बढ़ाने की अनुमति दे दी है। ऑटो चालकों ने कम सवारी बिठाने की बात कहकर किराया बढ़ाया और मनमानी शुरू कर दी। ऑटाे का नया किराया तय हाेने के पहले दिन काफी संख्या में ऑटाे सड़क पर दिखे। स्टेशन के पास ऑटाे कतारबद्ध खड़े रहे। सवारी बिठाने की बात आई तो दो की जगह 3 से 5 बिठाई। स्टेशन से दाे सवारियाें काे बिठा कर चले और रास्ते में ऑटो रोक कर फिर सवारी बिठा लिया। ई-रिक्शा पर पांच सवारियाें काे बिठाया गया। सवारियों से किराया भी अधिक वसूला।

वहीं, डीसी अमित कुमार के निर्देश पर गुरुवार काे वासेपुर सहित सभी 5 कंटेनमेंट जाेन में कंट्राेल रूम खाेल दिया गया। कंटेनमेंट जाेन में हाेम डिलीवरी के लिए हेल्प लाइन नंबर जारी किया गया है। डीसी ने कहा कि कर्फ्यू ग्रस्त इलाकाें में लाेग डरें नहीं, घर में रहें और सुरक्षित रहें। किसी चीज की दिक्कत हाे ताे कंट्राेल रूम में फाेन करें। कंट्राेल रूम 24 घंटे काम करेगा। आवश्यक वस्तुएं, दूध, फल, सब्जी व दवा सहित सभी चीजाें की घर में आपूर्ति की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here