Monday, September 27, 2021
Homeहरियाणाकरनाल : शाम को बाबुल के घर से डोली में आई थी...

करनाल : शाम को बाबुल के घर से डोली में आई थी दुल्हन, सुबह पिया के घर से उठी अर्थी

करनाल. जिंदगी में खुशियां आने से पहले ही दुखों का पहाड़ टूटना क्या होता है। यह बात करनाल के रहने वाले रविन की जिंदगी में हुई उथल-पुथल को देखकर लगाया जाता है। रविन मंगलवार को अपनी दुल्हन को लेने के लिए बारात लेकर निकला था। रास्ते में बारातियों की एक कार हादसे का शिकार हो गई। इसमे रविन के भतीजे की मौत हो गई। जैसे-तैसे जल्दबाजी में शादी की रस्मों को पूरा किया गया। शाम को रविन अपनी दुल्हन निकेश को विदा कराके ससुराल पहुंचा। लेकिन, चंद घंटे बाद ही नई नवेली दुल्हन की अचानक मौत हो गई।

पहले सड़क हादसे में भतीजे की मौत, तीन घायल
रविन ने पिछले कई सालों से दुबई की कंपनी में इंजीनियर है। वह शादी के लिए 19 फरवरी को भारत पहुंचा था। मंगलवार को धूमधाम से बारात लेकर अपने गांव गुल्लरपुर से जौली खेड़ा गांव में दूल्हन के घर के लिए निकला। लेकिन, रास्ते में बरातियों से भरी एक कार का एक्सीडेंट हो गया। इसमें रविन के भतीजे साहिल की मौत हो गई और उसके तीन दोस्त घायल हो गए। हादसे के बाद दोनों पक्ष के लोगों ने सादे तरीके से विवाह की रस्मों को पूरा करने का निर्णय लिया।

शाम 7 बजे दुल्हन पहुंचीं, 9 बजे हुई मौत 
मंगलवार शाम करीब 7 बजे दुल्हन निकेश पति रविन के साथ डोली में ससुराल पहुंची। दुल्हन के आगमन की रस्मों के बाद निकेश को जब पता चला कि बारात में जाते समय हादसे में उसके देवरी (भतीजे) की मौत हो गई तो उसको गहरा सदमा लगा और इसी सदमे में उसकी रात करीब 9 बजे मौत हो गई।

‘बार-बार पूछती रही कि हादसे में जान गंवाने वाला अपने ही परिवार से था क्या’
रविन के दादा  82 साल के अंतराम ने बताया कि दुल्हन निकेश बार-बार अपनी सास से पूछती रही कि मम्मी हादसे में जान गंवाने वाला साहिल भी अपने ही परिवार से था क्या। वह लोगों से बार-बार हादसे का जिक्र सुनकर सहमी सी थी। रात करीब पौने नौ बजे वह शादी की ड्रेस बदलने के लिए घर की छत पर बने कमरे में गई। जब वह कपड़े बदलकर अपनी सास व अन्य महिलाओं के पास आकर बैठी तो अचानक पसीने आकर निकेश की तबीयत खराब हो गई। तबीयत ज्यादा खराब होने पर ससुराल के लोग उसे अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

गुड़गांव की एक कंपनी में करती थी काम दुल्हन निकेश
दूल्हे रविन ने बताया कि वह पिछले कई सालों से दुबई की ईएफएस इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी में इंजीनियर है। शादी के लिए करीब डेढ़ माह की कंपनी से छुट्टी मिली थी। जबकि उसकी पत्नी निकेश कंप्यूटर साइंस का डिप्लोमा कर गुड़गांव में एक मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करती थी। दोनों को करीब डेढ़ माह बाद दुबई में ही सेटल होना था, लेकिन घर आने के 2 घंटे बाद ही उसकी पत्नी दुनिया छोड़कर चली गई। दूल्हे का छोटा भाई मनीष कनाडा में रहता है, जोकि शादी में कनाडा से आया था।

सुबह चाची, शाम को भतीजे का अंतिम संस्कार
दूल्हे के कुनबे से लगने वाले भतीजे साहिल की मौत और फिर रात को दुल्हन निकेश की मौत से गांव में मातम पसर गया। बुधवार सुबह करीब पौने नौ बजे सुबह दुल्हन का संस्कार किया गया। जबकि पोस्टमार्टम होने के बाद साहिल की डेडबॉडी करीब ढाई बजे गांव जौली पहुंची थी। करीब तीन बजे साहिल के शव का संस्कार किया गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments