Sunday, September 19, 2021
Homeबिहारमुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड : ब्रजेश ठाकुर समेत 19 दोषियों की सजा...

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड : ब्रजेश ठाकुर समेत 19 दोषियों की सजा पर बहस पूरी, 11 फरवरी को फैसला सुनाएगा कोर्ट

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर समेत 19 दोषियों की सजा पर बहस पूरी हो चुकी है। साकेत कोर्ट 11 फरवरी को इस पर फैसला सुनाएगा। सीबीआई के वकील ने ब्रजेश ठाकुर को उम्रकैद की सजा देने की मांग की है। साथ ही अन्य दोषियों को भी कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की गई है।

मंगलवार को साकेट कोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान जज ने सीबीआई से पूछा कि मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में रहने वाली कितनी बच्चियां अपने घर में हैं और कितनी बच्चियां शेल्टर होम में रह रही हैं। कोर्ट ने सीबीआई से सभी लड़कियों का ब्योरा मांगा और दो दिनों के अंदर जवाब दाखिल करने के निर्देश दिए। कोर्ट ने कहा कि लिखित में सभी बच्चियों की डिटेल दें।

इससे पहले 20 जनवरी को दिल्ली की साकेत कोर्ट ने शेल्टर होम के संचालक ब्रजेश ठाकुर समेत 19 को यौन शोषण और उत्पीड़न का दोषी करार दिया था। एक आरोपी को अदालत ने दोषमुक्त कर दिया था। ब्रजेश को पॉक्सो के तहत यौन शोषण और गैंगरेप का दोषी करार दिया गया। यह मामला 7 फरवरी 2019 को सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर मुजफ्फरपुर की स्थानीय अदालत से साकेत पॉक्सो कोर्ट में ट्रांसफर किया गया था।

ये हैं बालिका गृह कांड के दोषी

ब्रजेश ठाकुर (संरक्षक), इंदु कुमारी (अधीक्षिका), मीनू देवी (हाउस मदर), मंजू देवी (काउंसलर), चंदा देवी (हाउस मदर), नेहा कुमारी (नर्स), किरण कुमारी (हेल्पर), हेमा मसीह (प्रोबेशनरी अधिकारी), रवि रोशन(निलंबित सीपीओ- बाल संरक्षण पदाधिकारी), विकास कुमार(  सीडब्लूसी – बाल कल्याण समिति सदस्य), रोजी रानी(तत्कालीन सहायक निदेशक), विजय कुमार तिवारी(ब्रजेश का ड्राइवर), गुड्डू कुमार(रसोईया), कृष्णा कुमार राम(सफाईकर्मी), रामानुज ठाकुर (गेटकीपर), साजिस्ता परवीन उर्फ मधु(ब्रजेश की करीबी), अश्विनी कुमार(कथित डॉक्टर), दिलीप वर्मा(सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष), रामाशंकर सिंह उर्फ मास्टर साहब।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments