Sunday, September 19, 2021
Homeदिल्लीदिल्ली सरकार का दावा:मरीजों को ऑक्सीजन की होम डिलीवरी, पर हकीकत में...

दिल्ली सरकार का दावा:मरीजों को ऑक्सीजन की होम डिलीवरी, पर हकीकत में एक जिले में 20 सिलेंडर का ही कोटा

देश की राजधानी दिल्ली में तेजी से फैल रही कोरोना महामारी के दौरान दिल्ली के अस्पतालों में बिगड़ते हालातों और ऑक्सीजन की कमी के बीच केजरीवाल सरकार ने एक बड़ी राहत का ऐलान किया है। सरकार ने कहा है कि होम आइसोलेशन में कोरोना के जिन मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत है वे सरकार की वेबसाइट delhi.gov.in पर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

होम आइसोलेशन में ऑक्सीजन की जरूरत हो, तो ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं, यह सिस्टम आज से शुरू।
  • बड़ा सवाल: जब सरकार के पास पर्याप्त सिलेंडर ही नहीं तो कैसी होम डिलीवरी

रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड, या कोई वैध फोटो आईडी, करोना पॉजिटिव रिपोर्ट, सीटी स्कैन जैसे दूसरे डॉक्यूमेंट भी सबमिट करने होंगे। ऑक्सीजन के लिए मिलने वाले ऑनलाइन आवेदनों की जांच के लिए संबंधित डीएम पर्याप्त कर्मचारियों की ड्यूटी लगाएंगे। ये कर्मचारी प्रायरिटी के आधार पर आवेदकों को ई-पास जारी करेंगे। डीएम ही ऐसे डिपो और डीलर की पहचान करेंगे, जो मरीजों तक ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए ही काम करेंगे।

दिल्ली के 11 जिलों में 50 हजार से अधिक करोना मरीज होम आइसोलेशन में हैं

लोगों का कहना है कि दिल्ली के 11 जिलों में 50 हजार से अधिक करोना मरीज होम आइसोलेशन में हैं। जब इन कोरोना मरीजों का जब फिलहाल अगर उन्हें ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है तो वह अस्पताल की तरफ भागते हैं। जिसकी वजह से अस्पतालों में बेड भर जाते हैं। सरकार घर पर ही ऑक्सीजन उपलब्ध कराकर अस्पतालों में भीड़ कम करने की तैयारी कर रही है।

इन्ही बातें को ध्यान में रखकर स्वास्थ्य विभाग ने फिलहाल सभी जिलों को दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने 20-20 ऑक्सीजन सिलेंडर का कोटा दिया है। लेकिन यहां सबसे बड़ा सवाल यही है कि इतनी बड़ी संख्या में होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को हर जिला में केवल 20 सिलेंडर के द्वारा किस तरह से ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा सकेगी? दूसरी बात यह है कि अभी हजारों की संख्या में लोग कोरोना के बजाय दूसरी वजह से भी लोगों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है।

रीफिलिंग से लेकर सिलेंडर देने का अधिकार डीएम को

सबसे बड़ी बात यह है कि कोविद मरीजों की गंभीरता को देखते हुए तय करने का अधिकार डीएम का ही होगा कि उसे घर पर ऑक्सीजन देना है या नहीं। यही नहीं ऑक्सीजन सिलेंडर की रीफिलिंग से लेकर सिलेंडर देने का अधिकार डीएम को है। अब वही तय करेंगे कि किसी मरीज को गंभीरता के अधार पर ऑक्सीजन सिलेंडर दे या नहीं दे। ऐसे कई बिमारी है जिनमें ऑक्सीजन कम हो जाती है ऐसे मरीज कहां जाएंगे उसकी कोई जानकारी सरकार ने नहीं दी है।

होम आइसोलेशन वाले मरीज ऑक्सीजन के लिए ऐसे करवाए पंजीकरण

दिल्ली सरकार के अनुसार अब होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीज दिल्ली सरकार के पोर्टल https://delhi.gov.in पर पंजीकरण कराकर ऑक्सीजन सिलेंडर प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें पंजीकरण के समय फोटो पहचान पत्र, आधार कार्ड, कोविद जांच की पॉजेटिव रिपोर्ट और अगर सीटी स्कैन रिपोर्ट है अपने पता और फोन नंबर भी तो उसे अपलोड करना होगा। उसके आधार पर प्राथमिकता के आधार
पर डीएम उन्हें ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराएंगे।

दिल्ली के लोग खाली सिलेंडर दान करें

दिल्ली सरकार ने दिल्लीवालों से खाली पड़े ऑक्सीजन सिलेंडर दान करने की अपील की है। स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी आशीष कुंद्रा ने बताया कि राजघाट डीटीसी बस डिपो में एक केंद्र बनाया गया है। यहां लोग सिलेंडर दान कर सकते हैं। इससे जुड़ी जानकारी के लिए कोई भी व्यक्ति 011- 23270718 फोन नंबर पर कॉल कर सकते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments