Sunday, September 26, 2021
Homeदिल्लीदिल्ली सरकार ने कहा -झूठ बोल रही केंद्र, ऑक्सीजन के लिए नहीं...

दिल्ली सरकार ने कहा -झूठ बोल रही केंद्र, ऑक्सीजन के लिए नहीं मिला पैसा

दिल्ली में ऑक्सीजन की किल्लत के कारण हाहाकार के बीच इस समस्या को केन्द्र और दिल्ली सरकार मिल कर सुलझाने के बजाय एक बार फिर दिल्ली के अस्पतालों में 8 ऑक्सीजन प्लांट्स की स्थापना को लेकर केन्द्र द्वारा जारी फंड को लेकर दोनों आमने-सामने आ गई है।

8 ऑक्सीजन प्लांट पर केन्द्र और दिल्ली आमने-सामने

केन्द्र द्वारा दिल्ली के अस्पतालों में 8 ऑक्सीजन प्लांट्स बनाने के लिए जारी फंड को लेकर केन्द्र और दिल्ली सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप जारी हैं। इस मामले में केंद्र सरकार के बयान पर दिल्ली सरकार ने पलटवार किया है और कहा है कि केंद्र सरकार झूठ बोल रही है।

दिल्ली सरकार की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि आज दिल्ली सरकार केंद्र से दिल्ली के लिए आवंटित ऑक्सीजन कोटे के अंतर को पूरा करने के लिए केंद्र के साथ मिलकर काम कर रही है। ऐसे में यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि केंद्र सरकार दिल्ली में पीएसए ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना में अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए पूरी तरह से गलत बयानबाजी कर रही है।

दिल्ली सरकार की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि पूरे भारत में 162 पीएसए संयंत्र स्थापित करने के लिए अक्टूबर 2020 में केंद्र सरकार में कॉन्ट्रैक्ट जारी किए थे। इन संयंत्रों को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा पीएम केयर फंड के माध्यम से स्थापित किया जाना था।

एक ही वेंडर को दिया ठेका, जो भाग गया

दिल्ली सरकार ने कहा है कि केंद्र सरकार ने इनमें से 140 ऑक्सीजन प्लांट्स का ठेका एक ही वेंडर को दे दिया था, जो भाग गया। नतीजा यह हुआ कि पूरे भारत में इन 162 संयंत्रों में से 10 ऑक्सीजन प्लांट्स को भी आज तक चालू नहीं किया जा सका। दिल्ली के मामले में कहा गया है कि यहां 8 में से 7 संयंत्रों को दिल्ली सरकार के अस्पतालों में और एक को केंद्र सरकार के अस्पताल सफदरजंग में स्थापित किया जाना था।

सिर्फ एक प्लांट हुआ शुरू

राज्य सरकार की तरफ से कहा गया है कि केंद्र सरकार के साथ कई बार हुई फॉलोअप मीटिंग के बाद, मार्च 2019 की शुरुआत में 5 अस्पतालों के लिए प्लांट्स वितरित हुए। आमतौर पर इन प्लांट्स को स्थापित करने में 3-4 दिन लगते हैं पर लेकिन एक बार फिर वेंडर गैर जिम्मेदार निकला और केंद्र के साथ कई बार फालोअप के बावजूद, आज तक उन 5 संयंत्रों में से केवल एक को चालू किया जा सका है।

प्लांट्स ही नहीं हुआ चालू

अन्य दो जगहों को लेकर दिल्ली सरकार ने कहा है कि दो प्लांट्स के लिए अब तक साइट भी नहीं मिला है। हम यह जानकर हैरान हैं कि केंद्र सरकार अब प्लांट्स में देरी का कारण दिल्ली सरकार से साइट प्रमाण पत्र उपलब्ध नहीं होना बता रही है, जबकि यह कभी भी दिल्ली सरकार के संज्ञान में नहीं लाया गया, यह पूरी तरह से झूठ है। दिल्ली सरकार ने कहा है कि इस झूठ का पता इससे भी चलता है कि केंद्र सरकार के अपने अस्पताल सफदरजंग में भी यह संयंत्र चालू नहीं हो सका है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments