Thursday, September 23, 2021
Homeचंडीगढ़पंजाब की अनाज मंडियों में काम करने वाले ठेकेदारों की मांग

पंजाब की अनाज मंडियों में काम करने वाले ठेकेदारों की मांग

एशिया की सबसे बड़ी खन्ना अनाज मंडी व अन्य सभी अनाज मंडियों में अनलोडिंग का ठेका एक बार फिर विवादों में है। सरकार को करोड़ों रुपए का चूना लगने की आशंका के बीच विभाग के उच्चाधिकारियों द्वारा दोबारा टेंडर कराने के आदेश के बावजूद टेंडर को लटकाया जा रहा है। इसमें घोटाले की आशंका दिखाई दे रही थी। कई ठेकेदारों की ओर से इसके खिलाफ विभाग में अपील की गई थी, जिसके बाद फूड एंड सप्लाई विभाग के डायरेक्टर ने दोबारा टेंडर करने के आदेश जारी कर दिए। शहर में आज पंजाब के कई स्थानों से अनाज मंडियों में काम करने वाले ठेकेदारों ने आकर अपनी बात मीडिया सामने रखी।पंजाब सरकार की गलत नीतियों व उच्च अधिकारियों व मंत्रियों की मिलीभगत से बड़े क्लस्टर बना कर व पुराने ठेकेदारों पर सख्त क्लाज लगाकर ,पुराने ठेकों को ही फिर से एक्सटेंशन दे दी गई है। कई दशकों से छोटे क्लस्टर में टेंडर प्रक्रिया में शुरू से भाग ले रहे ठेकेदार मौजूदा टेंडर से काफी कम रेट पर टेंडर भरने को तैयार हैं। ठेकेदारों का आरोप है कि सरकार के अधिकारियों ने मंत्रियों की मिलीभगत से सिर्फ 3-4 बड़े ठेकेदारों को फायदा पहुंचाने के लिए पुराने टेंडरों को एक्सटेंशन दे दी है। ठेकेदारों द्वारा फ़ूड अधिकारियों के पास अपील की कंडीशन के बाद तो ठेकेदारों को कोर्ट तक इंसाफ के लिए पहुंच पाना भी मुमकिन नहीं रहा। चंडीगढ़ में आज अनाज मंडियों के ठेकेदारों ने बताया कि बड़े ठेकेदारों को फायदा पहुंचाने के लिए उच्च अधिकारियों ने सरकार को करोड़ों रुपए का चूना लगाया है जो अभी भी जारी है जिस पर लगाम कसने की जरूरत है। ठेकेदारों ने कहा कि अगर हमारी मांगों को अभी भी न माना गया तो वे मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के शाही शहर में उनके घर का घेराव करने को मजबूर हो जाएंगे।

ठेकेदार जीत राम ने कहा कि उनकी मांगें इस प्रकार है।

इंडिपेंडेंट एजेंसी से टेंडर प्रक्रिया रद्द कर पुराने टेंडरों को एक्सटेंशन देने की जांच की जाए। नए टेंडर के लिए 2017 से पहले की प्रक्रिया जारी रहे। 50 लाख से 4 करोड़ के टर्न ओवर की कंडीशन खत्म की जाए। ठेकेदारों के क्लस्टर पहले की तरह छोटे बने सहित कई मांगें है। आज की प्रेस कॉन्फ्रेंस में ठेकेदार जीत राम नवांशहर, केवल बलाचौर, बलवीर चंद लुधियाना, मेहर चंद लुधियाना, सतनाम सुनाम सहित कई ठेकेदार मौजूद थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments