Saturday, September 25, 2021
HomeपंजाबDM ने कहा- पंजाब में एंट्री के लिए निगेटिव रिपोर्ट व टीके...

DM ने कहा- पंजाब में एंट्री के लिए निगेटिव रिपोर्ट व टीके की दोनों डोज जरूरी

जालंधर में एंट्री के लिए कोविड वैक्सीन की दोनों डोज या 72 घंटे के भीतर की RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट की जरूरत नहीं है, लेकिन पंजाब में एंट्री के लिए यह अनिवार्य शर्त होगी। जिला मजिस्ट्रेट (DM) घनश्याम थोरी ने 2 घंटे बाद इस संबंध में संशोधित आदेश जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि एंट्री से जुड़ी यह शर्तें सिर्फ पंजाब में एंट्री पर लागू होंगी।पंजाब में एंट्री के वक्त अगर किसी के पास निगेटिव रिपोर्ट न हो या वैक्सीन की दोनों डोज न लगी हों तो उनके लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट (RAT) अनिवार्य रहेगा। जो यात्री फ्लाइट के जरिए आएंगे, उनके लिए भी वैक्सीन की दोनों डोज लगवानी या निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य है। इसके अलावा अगर कोई कोरोना से ठीक हुआ है तो वह पंजाब आ सकता है।

नए आदेश में अब बार, जिम, रेस्टोरेंट व कोचिंग सेंटर आदि की क्षमता को 50% कर दिया गया है। पहले यह फुल कैपेसिटी के साथ चल रहे थे।

नए आदेश में यह महत्वपूर्ण हिदायतें

इंडोर में अब 150 और आउटडोर में 300 से ज्यादा लोग इकट्‌ठा नहीं हो सकते। यह गिनती किसी भी सूरत में 50% से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। आर्टिस्ट या म्यूजिशियन समेत निर्धारित संख्या में लोग बुलाने पर ही कार्यक्रमों को इजाजत मिलेगी, लेकिन कोविड प्रोटोकॉल फॉलो करने होंगे।

सभी बार, सिनेमा हॉल, रेस्टोरेंट, स्पा, स्वीमिंग पूल, कोचिंग सेंटर, स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स, जिम, मॉल, म्यूजियम, जू आदि सिर्फ 50% क्षमता के साथ ही काम करेंगे। इसमें भी शर्त है कि उनके स्टाफ को वैक्सीन की दोनों डोज लगी होनी चाहिए। स्वीमिंग पूल, जिम व स्पोर्ट्स में हिस्सा लेने वालों की उम्र 18 साल से ऊपर होनी चाहिए और उन्हें वैक्सीन की कम से कम एक डोज जरूर लगी होनी चाहिए।

कॉलेज, कोचिंग सेंटर व हायर एजुकेशन के दूसरे सेंटर तभी खुल सकते हैं, जब उनके टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टाफ को कोविड वैक्सीन की दोनों डोज लगी हों या वे कोविड से ठीक हुए हों। ऑनलाइन पढ़ाई का विकल्प जारी रहेगा। वहीं, अगर कहीं 0.2% कोविड पॉजिटिव मरीज आते हैं तो ऐसे संस्थान चौथी क्लास व उससे नीचे के विद्यार्थियों के लिए तुरंत बंद करने होंगे। स्थिति सुधरने के बाद इन्हें चालू किया जा सकता है।

कॉलेज, कोचिंग सेंटर व हायर एजुकेशन सेंटर में टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टाफ को वैक्सीनेशन में तरजीह दी जाएगी। उनके लिए स्पेशल कैंप लगाए जाएंगे। उन्हें इसी महीने के भीतर वैक्सीन की डोज लगानी अनिवार्य है। दूसरी डोज वालों को भी प्राथमिकता दी जाएगी। स्कूल जाने वाले बच्चों को भी तुरंत वैक्सीन लगानी होगी।

पुलिस कमिश्नर व SSP सख्ती से लागू करें आदेश

जिला मजिस्ट्रेट घनश्याम थोरी ने पुलिस कमिश्नर व SSP को कहा है कि केंद्र व राज्य सरकार से आई हिदायतों को सख्ती से लागू किया जाए। खासकर, मास्क पहनने व सोशल डिस्टेंस बनाए रखने की सावधानी का पालन करवाया जाए, ताकि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। जो भी इन आदेशों का पालन न करे, उनके खिलाफ IPC की धारा 188, डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट व एपिडेमिक डिजीज एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments