Sunday, September 19, 2021
Homeहेल्थइंस्टेंट शुगर कम करने के लिए रोजाना इस समय करें ब्रेकफास्ट

इंस्टेंट शुगर कम करने के लिए रोजाना इस समय करें ब्रेकफास्ट

डायबिटीज के मरीजों के लिए ब्लड शुगर कंट्रोल करना टेढ़ी खीर साबित होता है। इस बीमारी में रक्त में शर्करा स्तर बढ़ जाता है। इसके लिए डायबिटीज में खानपान और रहन-सहन पर विशेष ध्यान देना पड़ता है। लापरवाही बरतने पर यह बीमारी खतरनाक साबित हो सकती है। इससे कई अन्य बीमारियां दस्तक देती हैं। विशेषज्ञों की मानें तो डायबिटीज एक लाइलाज बीमारी है, जो एक बार हो जाने पर ज़िंदगीभर साथ रहती है। इस बीमारी में परहेज के साथ-साथ सही दिनचर्या, उचित खानपान और रोजाना वर्कआउट जरूरी है। कई शोधों में खुलासा हो चुका है कि रोजाना नियमित समय पर नाश्ता करने से न केवल ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है, बल्कि कम भी होता है। अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं और शुगर कंट्रोल में रखना चाहते हैं, तो रोजाना इस समय ब्रेकफास्ट करें। आइए, इसके बारे में सबकुछ जानते हैं-

विशेषज्ञों की मानें तो डायबिटीज के मरीज दिन की शुरुआत प्रोटीन हेल्दी फैटफाइबर और साबुत अनाजों का सेवन करें। इसके लिए दही अंडे सब्जी टोस्ट और फल का सेवन कर सकते हैं। निर्धारित समय पर संतुलित आहार लेने से ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

ENDO 2021 में छपी एक शोध में खुलासा हुआ है कि मधुमेह के मरीज को रोजाना सुबह में 8:30 बजे से पहले नाश्ता कर लेना चाहिए। इससे इंसुलिन प्रतिरोध और ब्लड शुगर स्तर कम होता है। इस शोध में अमेरिका के 10,575 लोगों के खाने की अवधि डेटा का विश्लेषण किया गया। इस शोध में पाया गया कि सुबह में 8:30 बजे से पहले नाश्ता करने वाले लोगों का शुगर और इंसुलिन प्रतिरोध स्तर कम रहता है। इंसुलिन प्रतिरोध एक ऐसी स्थिति है। जब शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन के लिए काम करना बंद कर देती हैं।

क्या करें नाश्ता

विशेषज्ञों की मानें तो डायबिटीज के मरीज दिन की शुरुआत प्रोटीन, हेल्दी फैट,फाइबर और साबुत अनाज से करनी चाहिए। इसके लिए दही, अंडे, सब्जी, टोस्ट और फल का सेवन कर सकते हैं। निर्धारित समय पर संतुलित आहार लेने से ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद मिलती है। एक शोध में यह भी खुलासा हो चुका है कि डायबिटीज के मरीजों को सुबह में दूध का सेवन करना चाहिए। इससे बल्ड शुगर दिनभर कंट्रोल में रहता है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments