Sunday, September 19, 2021
Homeदिल्लीएड-हॉक टीचर्स की नियुक्ति पर रोक का विरोध, DU शिक्षकों की आज...

एड-हॉक टीचर्स की नियुक्ति पर रोक का विरोध, DU शिक्षकों की आज से हड़ताल

  • दिल्ली यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन की हड़ताल
  • एड-हॉक टीचर्स की नियुक्ति के विरोध में प्रदर्शन

दिल्ली यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन (DUTA) से जुड़े शिक्षक आज से हड़ताल पर रहेंगे. यह हड़ताल यूनिवर्सिटी प्रशासन के उस निर्देश के बाद बुलाई गई है जिसमें सभी कॉलेजों को एड-हॉक टीचर्स की नियुक्ति करने से रोक दिया गया है.

असल में, दिल्ली यूनिवर्सिटी प्रिसिंपल एसोसिएशन (DUPA) ने  कॉलेजों को एड-हॉक प्रोफेसरों की जगह ‘गेस्ट टीचर्स’ की नियुक्ति करने का फैसला लिया है जिसका डूटा विरोध कर रहा है.

यह निर्णय 28 अगस्त डीयू के परिपत्र के आधार पर किया गया है जिसमें कहा गया है कि वर्तमान शैक्षणिक सत्र में अब रिक्त पदों पर केवल अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति की जा सकती है. बता दें कि पिछले कई सालों से दिल्ली यूनिवर्सिटी में 4,500 से ज्यादा टीचर एड-हॉक के तौर पर पढ़ा रहे हैं.

दिल्ली यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन ने जारी बयान में कहा है कि यह पूरी तरह से अस्वीकार्य है. कुलपति ने 28 अगस्त के पत्र के माध्यम से, एड-हॉक रिक्तियों पर पूर्णकालिक शिक्षकों की नियुक्ति को स्थायी आधार पर भरे जाने से इनकार किया है. इसकी वजह से कॉलेजों के सामने कठिन स्थिति पैदा हो गई है.

टीचर्स एसोसिएशन ने कहा है कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की ओर से एड-हॉक और अस्थायी शिक्षकों की सेवा को लेकर जब तक सकारात्मक फैसला नहीं लिया जाता, तब तक संघर्ष जारी रहेगा. डूटा ने आंदोलन को सफल बनाने के लिए छात्रों, उनके अभिभावकों, राजनीतिक दलों के नेताओं से संपर्क साधने की भी बात कही है.

छात्रों के नाम संदेश

शिक्षकों ने छात्रों के नाम संदेश भी जारी किया है. संदेश में कहा गया है, जब आप परीक्षा देने पहुंचेंगे तो आप हमें अपनी ड्यूटी से अनुपस्थित पाएंगे, इससे आपकी परीक्षा में बाधा आएगी. यह न आपके लिए प्रीतिकर है न हमारे लिए.

हमें इस हड़ताल पर मजबूरी में जाना पड़ा है क्योंकि आपके वे सभी शिक्षक जो एड-हॉक सेवाएं दे रहे थे, जिनकी संख्या विश्वविद्यालय में 5000 के लगभग है, उन्हें प्रशासन ने एक झटके से एक तानाशाही पत्र के माध्यम से नौकरी बाहर कर दिया है.

संदेश में कहा गया है कि एड-हॉक शिक्षकों का वेतन भी कॉलेजों के प्राचार्यों ने जारी नहीं किया है. आप सालों से पढ़ा रहे तमाम शिक्षकों को याद कीजिए, वे आज एक असंगत पत्र के कारण बेरोजगार घोषित कर दिए गए हैं. वे सभी तथा हम सभी स्थाई शिक्षक भी इस कदम के खिलाफ हड़ताल पर जाने के लिए विवश हुए हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments