Saturday, September 25, 2021
Homeहिमाचलहर साल होती है एडमिशन के लिए मारामारी, सैकड़ों युवा नहीं बना...

हर साल होती है एडमिशन के लिए मारामारी, सैकड़ों युवा नहीं बना पाते शौक को पढ़ाई का हिस्सा

हिमाचल प्रदेश के सैकड़ों युवाओं के दिल में प्रोफेशनल फोटोग्राफी की बारीकयां सीखने की ललक होती है, लेकिन यह सिर्फ हसरत तक ही सीमित रह जाती है। कारण, प्रदेश में ऐसे हालात ही नहीं हैं। वैसे तो प्रदेश में 139 सरकारी और 140 प्राइवेट आईटीआई चल रही हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ सोलन जिले के अर्की स्थित आईटीआई में ही प्रोफेशनल फोटोग्राफी ट्रेड उपलब्ध है। यहां भी केवल 20 सीटें हैं।

बात दें कि आजकल प्रोफेशनल फोटोग्राफी ट्रेंड में है। बहुत सारे सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों में प्रोफेशनल फोटोग्राफर रखे जाते हैं। ऐसे में हर जगह प्रोफेशनल फोटोग्राफर को प्राथमिकता दी जाती है, जबकि कई युवा भी इसी में अपना कैरियर बनाकर आगे बढ़ना चाहते हैं। बदलते लाइफस्टाइल के साथ फोटोग्राफी को ज्यादा तवज्जो दी जा रही है, लेकिन हिमाचल में केवल एक ही आईटीआई में यह कोर्स मौजूद है, जबकि पूरे हिमाचल में इस वक्त 279 सरकारी और गैर सरकारी आईटीआई हैं। अब सवाल यह उठता है कि क्या सरकार इस ट्रेड को हिमाचल में तवज्जो नहीं देना चाहती।

अर्की में इस तरह आया फोटोग्राफी का कोर्स

सबसे पहले यह ट्रेड मंडी आईटीआई में शुरू किया गया था, लेकिन यहां पर युवाओं की ज्यादा रुचि इसमें नहीं दिखी और ट्रेड बंद होने की कगार पर पहुंच गया था। इसके बाद 2014 में मंडी आईटीआई में कार्यरत ट्रेड के टीचर अर्की आईटीआई के लिए ट्रांसफर हो गए और उन्हीं के साथ यह ट्रेड अर्की आ गया। अब यहां पर पिछले 7 साल से लगातार सीटों के लिए मारामारी हो रही है। अर्की ही नहीं पूरे प्रदेश भर से युवा ट्रेड में एडमिशन लेने के लिए यहां पर पहुंचते हैं, जिनकी एडमिशन हो जाती है वह अपना पढ़ाई भी पूरी करते हैं।

1 साल का है यह कोर्स 8000 हजार रुपए मात्र खर्चा

लड़कों के लिए 1 साल का कोर्स करने के लिए मात्र 8000 हजार का खर्चा आता है। जिसमें साल में दो बार फीस ली जाती है पहली बार 4820 जबकि दूसरी बार 2960 रुपए फीस ली जाती है।इसके अलावा कोर्स खत्म होने के बाद 1000 हजार सिक्योरिटी फीस भी वापिस की जाती है। वही लड़कियों के लिए 5000 से भी कम खर्चा आता है। साल में पहली बार 3620 और दूसरी बार 1700 रुपए फीस ली जाती है।

कई संस्थाओं में भरे जाते हैं फोटोग्राफी के पद

आपको बता दें कि प्रदेश के कई संस्थाओं में फोटोग्राफी के पद भरे जाते हैं। इनमें लोक संपर्क विभाग मुख्य रूप से शामिल है। लेकिन प्रदेश में फोटोग्राफी का विशेष डिप्लोमा या डिग्री नहीं होने से युवा इस क्षेत्र में नौकरी पाने से वंचित रह रहे हैं। प्रदेश में इस तरह का कोई भी कोर्स ना होने से लोग फोटोग्राफर के पदों के लिए मांगे गए मापदंड ही पूरे नहीं कर पाते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments