Wednesday, September 22, 2021
Homeबिहारशादी का झांसा देकर 2 साल तक किया शोषण:मुजफ्फरपुर में युवती के...

शादी का झांसा देकर 2 साल तक किया शोषण:मुजफ्फरपुर में युवती के गर्भवती होने पर कराया गर्भपात

मुजफ्फरपुर में निजी कंपनी के अधिकारी द्वारा शादी का झांसा देकर एक युवती के साथ दो साल शारीरिक संबंध बनाया गया। फिर, युवती के गर्भवती होने पर गर्भपात करा दिया गया। इसपर युवती ने सदर थाने में आरोपित के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। युवती सदर थाना क्षेत्र इलाके की रहने वाली बताई जा रही है। युवती ने अपने कंपनी के अधिकारी पर शादी का झांसा देकर करीब दो साल तक शारीरिक संबंध बनाने का आरोप लगाया है। वहीं, गर्भवती होने के बाद जब युवती ने शादी करने का दबाव बनाया तो आरोपित ने इनकार कर दिया। जबकि, युवती को धोखा से दवा खिला कर गर्भपात भी करा दिया।प्रतीकात्मक तस्वीर।

एफआईआर में युवती ने भागलपुर जिले के नाथनगर थाना क्षेत्र निवासी सह वर्तमान में कंपनी के कलस्टर बिजनेश हेड आजम खान को आरोपित बनाया है। एफआईआर में युवती ने पुलिस को बताया है कि वह शहर के निजी कंपनी में वर्ष 2019 में तीन जून से काम कर रही है। आरोपी पटना से ब्रांच विजिट करने शहर आता था। जबकि, पटना से बराबर वीडियो कॉल व कॉल करता था। युवती के विरोध करने पर आरोपी घर पर पहुंच जाता था। घर पर वह कंपनी संबंधित बातों का बहाना बना कर निकटता बनाने का प्रयास करने लगा। इस बीच 2019 की जुलाई माह में शादी का झांसा देकर आरोपी ने उसने गोबरसही के एक होटल में शारीरिक संबंध बनाया। फिर, बदनाम करने व कंपनी से निकलवा देने की धमकी देकर आवास पर आकर लगातार शारीरिक शोषण करता रहा। इसके बाद वह गर्भवती हो गई।

इसपर युवती आरोपित पर शादी करने का दबाव बनाया। लेकिन, वह बहाना बनाने लगा। फिर, धोखे से युवती को दवा खिला कर गर्भपात करा दिया। फ़इर, कुछ दिन बाद शादी करने के बहाने उसने युवती को पटना बुलाया। बस अड्डा से जबरन अपनी कार में बैठाकर आरोपित ने एक जगह ले गया। जहां पर पूर्व से कुछ लोग मौजूद थे। वहां पर आरोपित ने युवती से सादा स्टांप पेपर पर दस्तखत करने को कहा। इनकार करने पर आरोपी की पत्नी व अन्य सहयोगियों ने उसके साथ मारपीट की। शोर मचाते हुए वह वहां से भाग निकली। मुजफ्फरपुर लौट कर आने पर पीड़िता ने कंपनी के अधिकारियों को मेल कर घटना की जानकारी दी। इसपर कंपनी ने जांच कराने के बाद घटना को सत्य मानते हुए आरोपी को हटा दिया। लेकिन उसके इशारे पर कंपनी के अन्य लोग उसके ऊपर आरोप को वापस लेने का दबाव बनाने लगे। वही, आरोपित के इशारे पर कंपनी के पटना निवासी अधिकारी प्रताड़ित करते हुए मेल करने लगे। प्रताड़ना से तंगा आकर वह मानसिक रूप से बीमार हो गई। इधर, थानेदार सत्येंद्र कुमार मिश्र ने बताया कि एफआईआर दर्ज कर मामले की छानबीन की जा रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments