Friday, September 17, 2021
Homeबॉलीवुडअजान विवाद से लेकर फ्लाइट में गाना गाने तक, सोनू निगम का...

अजान विवाद से लेकर फ्लाइट में गाना गाने तक, सोनू निगम का विवादों से रहा गहरा नाता

बॉलीवुड डेस्क. सोनू निगम आज अपना 46 वां जन्मदिन मना रहे हैं। सोनू का जन्म हरियाणा के फरीदाबाद में 30 जुलाई 1973 को हुआ। उन्होंने 4 साल की उम्र से गाना शुरू कर दिया था। वो अपने पिता आगम कुमार निगम के साथ स्टेज पर गाया करते थे। 18 साल की उम्र में उनके पिता उन्हें प्लेबैक सिंगर बनाने के लिए मुंबई लेकर आए। काफी संघर्षों के बाद 1993 में उन्होंने फिल्म आजा मेरी जान में ओ आसमान वाले गाना गाने का मौका मिला। बतौर प्लेबैक सिंगर ये उनका पहला गाना था। वो अपने गानों के साथ-साथ बेबाक राय रखने के लिए भी जाने जाते हैं। उनके जन्मदिन पर जानते हैं उनसे जुड़े कुछ खास किस्से…

भूषण कुमार के लिए गाया रफी की यादें

  1. सोनू को पहचान फिल्मों की वजह से नहीं बल्कि एल्बम से मिली। दरअसल, टी-सीरीज के मालिक भूषण कुमार को उनकी आवाज बेहद पसंद आई और उन्होंने मोहम्मद रफी के गानों का एक एल्बम रफी की यादें तैयार करने का मन बनाया। इसके लिए उन्होंने सोनू को चुना। सोनू की आवाज में रफी के गाने लोगों को बेहद पसंद आए। इसके जरिए उन्हें इंडस्ट्री में पहचान मिली। लेकिन फिर भी उन्हें अच्छी फिल्मों में गाने के ऑफर नहीं मिले। लंबे वक्त तक उन्होंने बी-सी ग्रेड फिल्मों के लिए गाने गाए। फिल्म बेवफा सनम में उन्होंने अच्छा सिला दिया तूने मेरे प्यार का गाया। ये गाना हिट हुआ और उन्हें धीरे-धीरे पहचान मिलने लगी। इस बीच उन्हें टीवी शो सा रे गा मा पा में बतौर होस्ट भी देखा गया। उन्हें शो में खूब पसंद किया गया।

  2. बॉर्डर और परदेस ने दिलाई असली सफलता

    1997 में आई जेपी दत्ता की फिल्म बॉर्डर में गाने का ऑफर मिला। उन्होंने फिल्म में संदेसे आते हैं गाया। ये गाना सुपर हिट हुआ और उन्हें पूरे देश में पहचान मिली। इसके बाद उन्होंने सुभाष घई की फिल्म परदेस में ये दिल दिवाना गाया। सोनू के लिए ये दो गाने मील का पत्थर साबित हुए। उनके पास फिल्मों के ऑफर्स की कतार खड़ी हो गई और उन्होंने एक के एक बाद कई फिल्मों में बेहतरीन गाने गाए।

  3. कल हो ना हो के लिए मिला राष्ट्रीय पुरस्कार

    उन्होंने हिंदी के अलावा, तमिल, तेलुगु, अंग्रेजी, कन्नड़, बंगाली, भोजपुरी, उड़िया, पंजाबी, मलयाली और मराठी भाषाओं में भी गाने गाए हैं। 2004 में आई फिल्म कल हो ना हो के टाइटल ट्रैक के लिए उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके अलावा उन्हें आईफा, फिल्म फेयर, एमटीवी और जीमा अवॉर्ड भी मिल चुके हैं। बतौर एक्टर उन्होंने  फिल्म प्यारा दुश्मन, जानी दुश्मन, काश आप हमारे होते और लव इन नेपाल में काम किया। लेकिन उनकी एक्टिंग को दर्शकों ने नकार दिया। ये सभी फिल्में फ्लॉप रहीं और सोनू ने एक्टिंग का ख्याल अपने मन से निकालते हुए सिंगिंग पर ध्यान केंद्रित किया।

  4. विवादों से है गहरा नाता

    • सोनू निगम का एक म्यूजिक कंपनी से भी विवाद हुआ था, जिसके बाद उन्होंने संगीत से सन्यास लेने की बात कही थी। उन्होंने ट्विटर पर भी इस मुद्दे को उठाया था। लेकिन सोनू के फैंस ने उनका सपोर्ट किया और अपना फैसला वापस लेने को कहा और सोनू ने अपना मन बदल लिया।
    • इतना ही नहीं सोनू निगम राधे मां का सपोर्ट कर भी विवादों में फंस चुके हैं। साल 2015 में सोनू ने राधे मां के समर्थन में एक के बाद एक तीन ट्वीट कर उनका बचाव किया था और उनकी तुलना काली मां से कर डाली थी। जिसके बाद उन्हें विवादों का सामना करना पड़ा।
    • सफर के दौरान सोनू निगम ने जेट एयरवेज की फ्लाइट में गाना गाया था। जिसके बाद वे एक ​बार फिर विवादों में फंस गए थे। उन्होंने फ्लाइट में उद्घोषणा प्रणाली का इस्तेमाल कर गीत गाया था, इसके बाद क्रू मेंबर्स को निलंबित कर दिया गया था। सोनू निगम के गाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद इसपर जमकर विवाद हुआ था।
    • पिछले साल सोनू निगम ने अजान को लेकर बयान दिया था, जिसके बाद उन्हें जमकर ट्रोल किया गया था। उन्होंने लिखा था कि लाउडस्पीकर से दी जाने वाली अजान से उनकी नींद खराब होती है। वह इस धार्मिक कट्टरता को बर्दाश्त क्यों करें। ऐसा करना तो सरासर गुंडागर्दी है। यह विवाद इतना बढ़ गया था कि सोनू को अपना सर तक मुंडवाना पड़ा।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments